English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

यूपीएससी ने प्रीलिम्स परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिए हैं. अब जो छात्र शॉर्टलिस्ट हुए है उन्हें यूपीएससी मेंस परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाएगा. मेंस परीक्षा का आयोजन अगले साल 8 जनवरी को किया जाएगा. जो छात्र मेंस परीक्षा के लिए सिलेक्ट हुए हैं वह जान लें इन दो महीनों में कैसे अपनी मेंस परीक्षा की तैयारी को मजबूत कर सकते हैं.

उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर की प्रतिभा वर्मा (Pratibha Verma) ने यूपीएससी सिविल सर्विसेज परीक्षा (UPSC CSE 2019) में तीसरा स्थान  हासिल किया है. आइए जानते हैं उन्होंने कैसे मेंस परीक्षा की तैयारी की. ये टिप्स आपकी तैयारी में भी मददगार साबित हो सकते हैं.

Also read:  DU Admission 2020 First Cut Off: वोकेशनल स्टडीज के लिए DU की पहली कटऑफ लिस्ट हुई जारी,

इस साल प्रतिभा सफल महिला उम्मीदवारों की लिस्ट में पहले स्थान पर हैं. प्रतिभा को यह सफलता तीसरे प्रयास में हासिल की है. प्रतिभा का कहना है कि परीक्षार्थियों को ऑप्शनल सब्जेक्ट चुनते समय अपने ग्रेजुएशन के विषयों का ध्यान रखना चाहिए और पिछले सालों के प्रश्न पत्रों को हल करना चाहिए.

आंसर ने आने पर भी ऐसे दे सकते हैं जवाब

प्रतिभा वर्मा ने   परीक्षा की तैयारी की अपनी स्ट्रैटजी छात्रों के साथ साझा की. IIT दिल्ली से B tech कर चुकीं प्रतिभा ने बताया कि CSE  परीक्षा की तैयारी करते समय ऑप्शनल विषयों के चुनाव में किन बातों का मुख्य तौर पर ध्यान रखना चाहिए. चूंकि प्रतिभा B Tech हैं इसलिए उन्होंने ऑप्शनल विषय के तौर पर फिजिक्स का चुनाव किया था.

Also read:  गुजरात के स्कूलों में 25% कम हुई फीस, जानें- दिल्ली- पंजाब के छात्रों को कितनी मिली राहत?

प्रतिभा वर्मा  ने बताया मेंस की तैयारी के लिए सबसे जरूरी हिस्सा आंसर राइटिंग का है. बिना आंसर राइटिंग के मेंस परीक्षा लिख पाना काफी मुश्किल है. ऐसे में काफी ज्यादा जरूरी है कि आंसर राइटिंग रेगुलर दिनों में करते रहें.

Also read:  DU PG Admission 2020: दिल्ली यूनिवर्सिटी में पोस्टग्रेजुएट कोर्स में शुरू हुए एडमिशन

प्रतिभा वर्मा ने बताया, जब मुझे किसी भी प्रश्न का जवाब नहीं मालूम होता तो मैं प्रश्न को बहुत ध्यान से पढ़ती थी और सोचती थी उस प्रश्न में कौन- कौन से कीवर्ड जरूरी है और इस प्रश्न के लिए कितने पार्ट्स में आंसर को डिवाइड करना है और हर पार्ट में कितने पॉइंट्स लिखने हैं और वो पॉइंट्स क्या हो सकते हैं. उन्होंने कहा, डेली आंसर राइटिंग की तैयारी करने से आपको फाइनल परीक्षा के दौरान काफी मदद मिलेगी.