English മലയാളം

Blog

n4533471961671432278680693d72ce5a622a7bc0bedf218243d0b7b3ee8f9c94d798a61edc02e01809255d

अर्जेंटीना के स्टार खिलाड़ी लियोनेल मेसी ने रविवार को विश्व कप जीतने की अपनी जीवन भर की महत्वाकांक्षा को साकार करने के बावजूद अपने देश के लिए खेलना जारी रखने का संकल्प लिया है।

एएफपी समाचार एजेंसी के हवाले ये खबर सामने आई है। मेसी ने कहा कि मैं इस ट्रॉफी को अर्जेंटीना ले जाना चाहता हूं और बाकी सभी के साथ इसका लुत्फ उठाना चाहता हूं। मैं अभी विश्व विजेता के रूप में खेलना चाहता हूं। मेसी के शानदार प्रदर्शन की बदौलत रविवार को अर्जेंटीना ने हाई वोल्टेज फाइनल मुकाबले में फ्रांस को 4-2 से हराया।

फाइनल से पहले बताया जा रहा था कि 35 साल के मैसी अपना 172वां और आखिरी विश्व कप मैच खेलेंगे। मैसी ने भी कहा था कि 2022 विश्व कप फाइनल उनका आखिरी मैच होगा। उन्होंने कहा था, मैं बहुत खुशी महसूस कर रहा हूं कि मैंने यह हासिल किया है और विश्व कप का अपना सफर फाइनल खेल कर समाप्त करूंगा।

अर्जेंटीना ने फ्रांस को पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से हराया

Also read:  ओमान में मछली पकड़ने के कानूनों का उल्लंघन करने के आरोप में 35 से अधिक प्रवासी गिरफ्तार


कतर में विश्व कप के फाइनल में अर्जेंटीना ने फ्रांस को पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से हराया। वह 36 साल बाद विश्व कप जीतने में सफल रहा है। उसने 1978 और 1986 के बाद अब तीसरी बार खिताब को अपने नाम कर लिया है। निर्धारित 90 मिनट तक मुकाबला 2-2 की बराबरी पर रहने के बाद एक्स्ट्रा टाइम में मैच पहुंच गया। लियोनल मेसी ने एक गोल कर अर्जेंटीना को 3-2 से आगे कर दिया, लेकिन किलियन एम्बाप्पे ने हैट्रिक लगाकर मैच को 3-3 की बराबरी पर ला दिया। इसके बाद पेनल्टी शूटआउट में अर्जेंटीना ने मैच को अपने नाम कर लिया।

कतर का लुसैल स्टेडियम रविवार (18 दिसंबर) को फुटबॉल के एक एतिहासिल मैच का गवाह बना। पेनल्टी शूटआउट तक चले मैच में अर्जेंटीना ने फ्रांस को 4-2 से हराकर विश्व कप अपने नाम कर लिया। दुनिया के महानतम फुटबॉल खिलाड़ियों में एक लियोनल मेसी और युवा स्टार किलियन एम्बाप्पे ने अपने नाम के अनुरूप प्रदर्शन किया। मेसी ने दो, तो एम्बाप्पे ने तीन गोल दागे।

Also read:  ओमान में मत्स्य पालन कानून का उल्लंघन करने के आरोप में कई गिरफ्तार

लियोनल मेसी ने दागा पहला गोल
लियोनल मेसी ने मैच में पहला गोल 23वें मिनट में पेनल्टी पर किया। वह एक विश्व कप के सभी नॉकआउट मैचों में गोल करने वाले दुनिया के पहले फुटबॉलर बन गए। उनके बाद एंजेल डी मारिया 36वें मिनट में गोल कर अर्जेंटीना को 2-0 से आगे कर दिया। हाफटाइम तक अर्जेंटीना की टीम 2-0 से आगे थी। हाफटाइम के बाद दोनों टीमों ने लगातार हमले किए, लेकिन गोल नहीं निकल पा रहे थे। 80 मिनट तक तो ऐसा लगा कि अर्जेंटीना अब मैच को आसानी से जीत लेगा, लेकिन किलियन एम्बाप्पे ने दो मिनट में दो गोल कर मैच को पलट दिया। उन्होंने 80वें और 81वें मिनट में गोल कर दिया।

Also read:  क्राउन प्रिंस ने इराक के विजडम मूवमेंट के अध्यक्ष से मुलाकात की

चरम पर पहुंचा मैच का रोमांच
निर्धारित 90 मिनट तक स्कोर 2-2 की बराबरी पर रहने के बाद मुकाबला एक्स्ट्रा टाइम में पहुंच गया। वहां दोनों टीमों को 15-15 मिनट के दो हाफ मिले। लियोनल मेसी ने 108वें मिनट में गोल कर मैच में अर्जेंटीना को 3-2 से आगे कर दिया। एक बार फिर लगा कि अर्जेंटीना जीत के करीब पहुंच गया है, लेकिन उसके राह में किलियन एम्बाप्पे फिर से खड़े हो गए। उन्होंने 117वें मिनट में गोल कर मैच को 3-3 की बराबरी पर ला दिया। इसके बाद मैच पेनल्टी शूटआउट में पहुंच गया। वहां अर्जेंटीना ने मुकाबले को 4-2 से अपने नाम कर लिया।