English മലയാളം

Blog

गांधी नगर : 

गुजरात ने 2.27 लाख करोड़ रुपये के अब तक के सबसे बड़े बजट में 32,719 करोड़ रुपये शिक्षा के क्षेत्र के लिए आवंटित किए हैं, और स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण विभाग के लिए 11,323 करोड़ रुपयये का आवंटन किया गया है. गुजरात के वित्तमंत्री नितिन पटेल ने लगातार नवां बजट पेश करते हुए शहरी विकास के लिए 13,493 करोड़ रुपये, जल संसाधनों के लिए 5,494 करोड़ रुपये, जल आपूर्ति के लिए 3,974 करोड़ रुपये, कृषि खेदुत कल्याण योजना के लिए 7,232 करोड़ रुपये, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता के लिए 4,353 करोड़ रुपये और श्रम कल्याण व रोज़गार के लिए 1,502 करोड़ रुपये आवंटित किए.

Also read:  भीम आर्मी चीफ की सपा के साथ नहीं बनी बात , कहा- अखिलेश ने किया अपमान; अपने दम पर लड़ेंगा दलित समाज

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति के लिए बजट में 1,224 करोड़ रुपये का प्रस्ताव किया गया है, वन, पर्यावरण के लिए 1,814 करोड़ रुपये, विज्ञान एवं तकनीक के लिए 563 करोड़ रुपये, निराश्रितों व वृद्धावस्था पेंशन के लिए 1,032 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है, तथा राजस्व विभाग को 4,548 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं.

Also read:  कोविड-19 में गिरावट दर्ज की गई, कल 16051 केस मिले, 206 की कोरोना से हुई मौत

 

अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन के लिए 1,500 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है, जबकि नए पुलिस वाहनों के लिए 50 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है. सहकारी क्षेत्र में फसल ऋण के लिए 100 करोड़ रुपये, सड़क एवं भवन विभाग को 11,185 करोड़ रुपये, पोत एवं परिवहन विभाग को 1,478 करोड़ रुपये, ऊर्जा व पेट्रोकेमिकल सेक्टर को 13,034 करोड़ रुपये और जलवायु परिवर्तन विभाग को 910 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं.

Also read:  बिहार विधानसभा उपचुनाव को लेकर बीजेपी गठबंधन में टकराव, जानें किस सीट को लेकर नहीं बैठ रही सहमती

वर्ष 2021-22 के बजट में नितिन पटेल ने उद्योग एवं खनन विभाग के लिए 6,599 करोड़ रुपये, वन एवं पर्यावरण विभाग के लिए 1,814 करोड़ रुपये तथा गृह विभाग के लिए 7,960 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं.