English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-03 111742

आंध्र प्रदेश के एक औद्योगिक क्षेत्र में एक बार फिर से गैस रिसाव हुआ है। इसके चलते अब तक 121 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ये इलाका विशाखापत्तनम के पास है।

 

पिछले दो महीने के दौरान ये दूसरा मौका है जब गैस रिसाव की घटना हुई है। राज्य के मंत्री जी अमरनाथ ने कहा है कि जांच के आदेश दे दिए गए हैं। साथ ही जांच पूरी होने तक कंपनी को बंद करने के लिए कहा गया है।

Also read:  अमित मालवीय का केजरीवाल, भगवंत मान पर साधा निशाना कहा- केजरीवाल की 'भयावह राजनीति' पंजाब को 'अंधेरे युग' में वापस धकेल देगी

गैस रिसाव के बाद कर्मचारियों ने घबराहट होने और उल्‍टी आने की शिकायत की। इसके बाद उन्‍हें स्‍पेशल इकोनॉमिक जोन के मेडिकल सेंटर में प्राथमिक उपचार की सुविधा उपलब्‍ध कराई गई। ये घटना मंगलवार शाम की है. ये कंपनी अनकपल्ली जिले के अच्युतपुरम इलाके में है। जहरीली गैस का रिसाव होने के चलते 50 महिलाओं को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन अब इसकी संख्या बढ़ कर 121 हो गई है।

अंकापल्ले के पुलिस निरीक्षक के अनुसार, ‘घटना शाम 6:15 बजे से शाम 7 बजे के बीच हुई। दोपहर 2 बजे से रात 10 बजे के बीच दूसरी शिफ्ट में करीब 1000 कर्मचारी थे। उल्टी की शिकायत करने वाली 50 महिलाओं को अंकापल्ले अस्पताल में ट्रांसफर कर दिया गया। बाकी सभी को सुरक्षित निकाल लिया गया। स्थिति नियंत्रण में है। कर्मचारी हल्के लक्षणों के साथ बीमार पड़ गए और उनका इलाज चल रहा है। घटना के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है।’

Also read:  अजीत डोभाल ने कहा- साइबर स्पेस में कोई भी खतरा हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा को करता है प्रभावित

इसी तरह की घटना 3 जून को भी इसी जगह हुई थी जहां 200 से ज्यादा महिला कर्मी आंखों में जलनऔर उल्टी की शिकायत के बाद बेहोश हो गई थीं। ताजा घटना से सेज में कामगारों में दहशत फैल गई है। हैदराबाद में भारतीय रासायनिक प्रौद्योगिकी संस्थान के विशेषज्ञों की एक टीम ने प्रयोगशाला का दौरा किया और रिसाव का कारण निर्धारित करने के लिए परीक्षण किया, जबकि एपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने प्रयोगशाला को बंद करने का आदेश दिया था।

Also read:  सिद्धू मूसेवाला की हत्यारे लारेंस बिश्नोई के केस न लड़ने का वकीलों ने किया बहिष्कार