English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-07-18 143507

धार जिले में यात्री से भरी बस नर्मदा नदी में गिर गई। इस हादसे में बस में सवार सभी 13 लोगों की मौत हो गई है।

मध्य प्रदेश में आज एक बड़ा बस हादसा हो गया है। यहां के धार जिले में एक यात्री से भरी बस असंतुलित होकर रेलिंग तोड़ते हुए नर्मदा नदी में जा गिरी। इस हादसे में उस बस समें सवार ड्राइवर समेत 13 लोगों की मौत हो गई। खलघाट के मौक़े पर मौजूद खरगोन SP ने बताया की बस में सवार सारे लोग मारे जा चुके हैं। तेरह शव बरामद किये जा चुके हैं। किसी को ज़िंदा नहीं बचाया गया। बस में ड्राइवर समेत बारह लोग ही सवार थे। राहत कार्य में अब ज़्यादा काम नहीं बचा है। बस भी निकाल ली गई है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने MSRTC (महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम) को नर्मदा नदी में MSRTC बस दुर्घटना में मृतक के परिजनों को 10-10 लाख की अनुग्रह राशि देने का निर्देश दिया है।

घटना पर पीएम मोदी ने दुख जताते हुए ट्वीट कर कहा, ‘मेरी संवेदनाएं उनके साथ हैं जिन्होंने अपनों को खोया है। बचाव कार्य जारी है और स्थानीय अधिकारी प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं।’

बस हादसा पर शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने राहत-बचाव का कार्य जारी है। इस घटना पर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के सीनियर नेता कमलनाथ ने कहा कि वे ईश्वर से सभी के सकुशल रखने की कामना करते हैं। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा- “धार जिले में खलघाट में नर्मदा नदी में सवारियों से भरी एक बस के गिरने की दुखद जानकारी मिली है। मैं सरकार और प्रशासन से मांग करता हूं कि युद्ध स्तर पर बचाव कार्य कर लोगों को राहत प्रदान पहुंचाने का काम किया जा सके।”

ख़बर के मुताबिक, यह हादसा आगरा-मुंबई (एबी रोड) हाईवे पर हुआ है। यह हाईवे इंदौर से महाराष्ट्र को जोड़ता है। घटनास्थल इंदौर से करीब 80 किलोमीटर की दूरी है। जिस जगह संजय सेतु पुल से ये बस गिरी, वह राज्य के 2 जिलों धार और खरगोन की सीमा पर बना है। करीब आधा हिस्सा खलघाट (धार) और आधा हिस्सा खलटाका (खरगोन) में है। इधर, खरगोन से भी मौके पर कलेक्टर और एसपी पहुंच गए हैं।

Also read:  किसान आंदोलन के चलते दिल्ली में आज इन रास्तों पर आवाजाही रहेगी बंद, निकलने से पहले जान लें

हादसे में 13 मृतकों में से 8 की पहचान हो गई है। इनमें…

1. चेतन- पिता राम गोपाल जांगिड़ निवासी नांगल कला गोविंदगढ़ जयपुर राजस्थान से हैं।
2. जगन्नाथ- पिता हेमराज जोशी उम्र 70 साल निवासी मल्हारगढ़ उदयपुर राजस्थान से हैं।
3. प्रकाश- पिता श्रवण चौधरी उम्र 40 साल निवासी शारदा कॉलोनी अमलनेर जलगांव महाराष्ट्र से
4. नीबाजी- पिता आनंदा पाटिल उम्र 60 साल निवासी पीलोदा अमलनेरगां से
5. महिला कमला- पति नीबाजी पाटिल उम्र 55 साल निवासी पिलोदा अमलनेर जलगांव
6. चंद्रकांत- पिता एकनाथ पाटील उम्र 45 साल निवासी अमलनेर जलगांव (उपरोक्त 1 से 6 तक के मृतक की पहचान आधार कार्ड से की गई)
7. श्रीमती अरवा- पति मुर्तजा बोरा उम्र 27 साल निवासी मूर्तिजापुर अकोला महाराष्ट्र परिजन द्वारा पहचान
8. सैफुद्दीन- पिता अब्बास निवासी नूरानी नगर इंदौर परिजन द्वारा पहचान

Also read:  शूटर दादी के नाम पर बनी शूटिंग रेज का हुआ उद्घाटन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस हादसे पर दुख जताया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्विटर पर लिखा है, ”मैंने खरगोन कलेक्टर से फोन पर पुनः चर्चा कर रेस्क्यू ऑपरेशन की विस्तृत जानकारी ली है। मुख्यमंत्री सचिवालय भी रेस्क्यू ऑपरेशन में खरगोन, धार और इंदौर जिला प्रशासन के सतत संपर्क में है।”

Also read:  आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का आगाज, जानिए क्या हैं बड़ी बातें, किसे लाभ-किसे नहीं