English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-03-08 123910

एयर इंडिया के विमान IC-814 की हाइजैकिंग में शामिल रहा जहूर मिस्त्री मारा गया। जहूर मिस्त्री के कराची के घर में घुसकर दो हमलावरों ने उसकी हत्या कर दी। जहूर मिस्त्री कराची में नाम बदलकर रह रहा था।

 

एयर इंडिया के विमान IC-814 को 1999 में हाईजैक करने वाले आतंकियों में शामिल जहूर मिस्त्री उर्फ जाहिर अखुंद पाकिस्तान के कराची में मारा गया है। रिपोर्ट के अनुसार उसे एक मार्च को उसके ही घर में घुसकर दो लोगों ने मार गिराया। दोनों हमलावर एक बाइक से आए थे। जहूर कथित तौर पर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़ा था। वह छुपने के लिए खुद को बतौर बिजनेसमैन दिखाता था।

Also read:  किसान आंदोलन : कैप्टन पर भड़के केजरीवाल, बोले- बेटे के ईडी केस माफ करवाने के लिए केंद्र से सेटिंग कर ली 

सामने आई जानकारी के अनुसार जहूर को मारने आए दोनों हमलावर सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए हैं। हालांकि, उन्होंने मास्क पहन रखा था इसलिए उनकी पहचान नहीं हो सकी है। सूत्रों ने बताया कि दोनों बाइक सवारों ने इलाके में रेकी करने के बाद जहूर को मारा है।

Also read:  आशु बांगड़ ने आप से दिया इस्तीफा, राघव चड्ढा पर लगाया बड़ा आरोप

 

एयर इंडिया की फ्लाइट को हाईजैक करने में कुल पांच आतंकी शामिल थे। जहूर इनमें से एक था। पाकिस्तान की जियो टीवी ने भी कराची में एक ‘बिजनेसमैन’ की हत्या की पुष्टि की है। हालांकि, मारे गए शख्स को लेकर ज्यादा जानकारी नहीं दी गई है। बता दें कि 1999 में इंडियन एयरलाइंस की उड़ान के अपहरण की साजिश तब भारतीय जेल में बंद जैश-ए-मोहम्मद सरगना मौलाना मसूद अजहर सहित कुछ और आतंकियों को छुड़ाने के लिए रची गई थी।

Also read:  कई राज्यों में झुलसाएगी लू की तपिश, तो कई राज्यों में होगी बारिश

अपहरणकर्ताओं ने आईसी-814 विमान के 176 यात्रियों को तब सात दिनों तक बंधक बनाकर रखा था। इस फ्लाइट ने काठमांडू से उड़ान भरी और दिल्ली की ओर जा रही थी। इसी बीच उसे विमान में सवार आतंकियों ने हाईजैक कर लिया और अफगानिस्तान के कंधार ले गए। कहा जाता है कि हाईजैक की इस साजिश को पाकिस्तान की सैन्य खुफिया एजेंसी आईएसआई की ओर से भी समर्थन मिला हुआ था।