English മലയാളം

Blog

चुनाव आयोग ने बृहस्पतिवार को मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का स्टार प्रचारक का दर्जा रद्द कर दिया। इसपर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने आदेश को अजीब और अनुचित बताया है। निर्वाचन आयोग का यह आदेश राज्य की 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव से महज चार दिन पहले जारी किया गया है।

Also read:  राजनीतिक दलों को चुनावी बॉण्ड चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई

 

इस आदेश पर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर सिंह ने इंदौर जिले के सेमल्या चाऊ गांव में सिंह ने शुक्रवार रात संवाददाताओं से कहा, ‘मैंने वह आदेश देखा है। मैं निर्वाचन आयोग के प्रति पूरे सम्मान के साथ कहना चाहता हूं कि वह एक अजीब-सा आदेश है।’ उन्होंने कहा, ‘मैं समझता हूं कि यह आदेश उचित नहीं है। हालांकि, हम इस आदेश को लेकर कानूनी राय लेने पर विचार कर रहे हैं।’

Also read:  अंकिता भंडारी के केस को लेकर राहुल गांधी ने भाजपा और आरएसएस पर निशाना साधा, भाजपा और आरएसएस देश की महिलाओं को 'वस्तु' के तौर पर देखती

ग्वालियर जिले के डबरा विधानसभा क्षेत्र में एक चुनावी सभा के दौरान भाजपा उम्मीदवार इमरती देवी पर कमलनाथ की विवादास्पद टिप्पणी की ओर इशारा करते हुए राज्यसभा सांसद ने कहा, ‘डबरा वाली घटना के बाद कमलनाथ को (भाषण देते वक्त) संयम बरतने को कहा गया था। इसके बाद से उनका कोई ऐसा (विवादास्पद) बयान नहीं आया है।’

Also read:  शिमला ग्रामिण से कांग्रेस विधायक ने कांग्रेस से की अपील, कहा- हिमाचल में सोच-समझकर देने होंगे टिकट

सिंह, इंदौर जिले के सांवेर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार प्रेमचंद गुड्डू के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करने सेमल्या चाऊ पहुंचे थे। सूबे में सांवेर समेत 28 विधानसभा क्षेत्रों में तीन नवंबर को मतदान है।