English മലയാളം

Blog

कर्नाटक विधान परिषद के एक दिनी विशेष सत्र में मंगलवार को भारी हंगामा हुआ। सत्तापक्ष व विपक्ष खासकर कांग्रेस के एमएलसी के बीच जमकर धक्का-मुक्की हुई और नौबत हाथापाई की आ गई। इसी दौरान कांग्रेस के सदस्यों ने सभापति यानी चेयरमैन की कुर्सी पर बैठे डिप्टी चेयरमैन को बलपूर्वक उठा दिया। उनके साथ धक्का-मुक्की व खींचतान की गई। वह कांग्रेस नेता व सदन के चेयरमैन के. प्रतापचंद्र शेट्टी के आसंदी पर बैठने से पहले उनकी कुर्सी पर बैठ गए थे। भारी हंगामे के बीच चेयरमैन शेट्टी ने विधान परिषद की बैठक अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी।

कांग्रेस बोली, अवैध तरीके से बैठे थे इसलिए उठाया
इस पर कांग्रेस का कहना है कि डिप्टी चेयरमैन अवैध तरीके से चेयरमैन की कुर्सी पर बैठे थे इसलिए हमने उन्हें उठा दिया। कांग्रेस एमएलसी प्रकाश राठौड़ ने कहा, ‘भाजपा और जेडीएस ने डिप्टी चेयरमैन को गैरकानूनी तरीके से उस वक्त चेयरमैन बना दिया, जब सदन में कामकाज नहीं चल रहा था। दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा इस तरह की असंवैधानिक चीजें कर रही है। कांग्रेस ने उन्हें चेयर से नीचे उतरने को कहा, हमें उन्हें बेदखल करना पड़ा क्योंकि वह अवैध तरीके से इस पर बैठे थे।’

Also read:  राजनाथ सिंह ने चीन और पाक से लगती सीमा पर बने 44 पुलों का किया उद्घाटन, लद्दाख में 7 पुल खुले

भाजपा का आरोप, गुंडों की तरह व्यवहार किया
भाजपा एमएलसी लेहर सिंह सिरोया ने कहा, ‘कुछ एमएलसी ने विधान परिषद के चेयरमैन को जबरन हटाकर गुंडों की तरह व्यवहार किया और उनके साथ दुर्व्यवहार किया। हमने अपने परिषद के इतिहास में ऐसा शर्मनाक दिन कभी नहीं देखा। मुझे शर्म आ रही है कि जनता हमारे बारे में क्या सोच रही है।’

Also read:  राम मंदिर के लिए दान देने वालों के घरों को नाजियों की तरह चिह्नित कर रहा है आरएसएस - कुमारस्वामी