English മലയാളം

Blog

Screenshot 2023-07-24 104713

कर्नाटक पुलिस (Karnataka Police) ने 17-18 जुलाई को बेंगलुरु में संपन्न विपक्षी दलों की बैठक के दौरान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar CM Nitish Kumar) के खिलाफ पोस्टर लगाने के मामले में शनिवार को तीन लोगों को गिरफ्तार किया।

गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान श्रीराम, नंदकुमार और मोहन के रूप में की गई है, जो बेंगलुरु के शेषाद्रिपुरम के निवासी हैं।

कौन हैं आरोपी?

पुलिस के अनुसार, श्रीराम ने पोस्टर लगाने को प्रायोजित किया था। इन्हें आरोपी नंदकुमार की प्रिंटिंग प्रेस में छापा गया था। पोस्टरों को मोहन के टेम्पो में ले जाया गया था।

20 जगहों पर लगाए गए थे पोस्टर

पुलिस ने बताया है कि आरोपियों ने शहर में 20 जगहों पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ पोस्टर लगाए थे। इन्हें बेंगलुरु एयरपोर्ट रोड पर भी प्रमुखता से प्रदर्शित किया गया था। पुलिस राजनीतिक नेताओं की संलिप्तता का पता लगाने के लिए आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

Also read:  बजट क्रियान्वयन में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की अहम भूमिका-अशोक गहलोत

नीतीश कुमार को उठानी पड़ी थी शर्मिंदगी

  • सत्तारूढ़ भाजपा गठबंधन के खिलाफ एक मंच बनाने के लिए आयोजित विपक्षी दलों की बैठक से पहले पोस्टर और बैनर सामने आने से नीतीश कुमार को शर्मिंदगी उठानी पड़ी थी।
  • नीतीश कुमार को ‘अस्थिर प्रधानमंत्री पद का दावेदार’ करार देते हुए पोस्टर चालुक्य सर्कल और हेब्बाल इलाके के पास विंडसर मैनर ब्रिज और एयरपोर्ट रोड पर लगे थे। इस कार्यक्रम में आमंत्रित किए जाने पर भी उनकी आलोचना की गई थी।
  • पोस्टर में उनके शासनकाल में बिहार में पुल टूटने की घटनाओं का भी उल्लेख किया गया था- सुल्तानगंज पुल ढहने की पहली तारीख – अप्रैल 2022, सुल्तानगंज पुल ढहने की दूसरी तारीख – जून 2023।
  • एक अन्य पोस्टर में उनका उपहास करते हुए कहा गया, ”बिहार सरकार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पानी के अंदर पुल बनाने वाले व्यक्ति हैं।” इसके साथ ही, सुल्तानगंज पुल ढहने की तस्वीर वाले पोस्टर भी लगाए गए थे।
  • नीतीश कुमार इस कार्यक्रम में भाग लेने वाले प्रमुख नेताओं में से एक थे। उन्होंने इस घटनाक्रम पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी।
Also read:  हिमाचल में होगी पुरानी पेशंन योजना लागू, सीएम सुक्खू ने बताई तारीख

डीके शिवकुमार ने भाजपा पर लगाए आरोप

कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री डी.के. शिवकुमार ने नीतीश कुमार के खिलाफ पोस्टर लगाने के लिए भाजपा की आलोचना की थी। शिवकुमार ने कहा, ”यह सब हमारे भाजपा मित्र का काम है।” वह (नीतीश कुमार) भाजपा के लिए बड़ा खतरा हैं और उनके खिलाफ पोस्टर लगाकर वे उन्हें प्रचार दे रहे हैं। कांग्रेस पार्टी इन सभी ताकतों से लड़ने के लिए तैयार है। कायरों की तरह वे ऐसा कर रहे हैं। नीतीश कुमार भी कर्नाटक की राजनीति को अच्छी तरह से जानते हैं।”