English മലയാളം

Blog

ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा और एंट ग्रुप के मालिक जैक मा पिछले दो महीने से लापता हैं। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के निशाने पर आने के बाद से वे किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में नजर नहीं आए हैं। इस बीच चीन के सरकारी अखबार पीपुल्स डेली ने जैक मा की मौजूदगी को लेकर बड़ा संकेत दिया है। पीपुल्स डेली ने कहा है कि जैक मा को एक अज्ञात स्थान पर ‘निगरानी’ में रखा गया है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य जैक मा को सरकार ने सलाह दी है कि वह देश को नहीं छोड़ें। ऐसे अनुमान लगाए जा रहे हैं कि मा की इस दुर्दशा के पीछे चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ उनका गहराया विवाद है।

Also read:  सिक्किम में पेशेवर ड्राइवरों को मिलेगा सम्मान, मुख्यमंत्री ने'सारथी दिवस' की छुट्टी घोषित की

जैक मा चीन में अक्सर सार्वजनिक कार्यक्रमों में बतौर वक्ता मौजूद रहते हैं और अपने मोटिवेशनल भाषणों के लिए भी युवाओं में काफी लोकप्रिय हैं। उन्होंने पिछले साल अक्तूबर में शंघाई में एक कार्यक्रम के दौरान चीन के ब्याजखोर वित्तीय नियामकों और सरकारी बैंकों की तीखी आलोचना की थी। जैक मा ने सरकार से आह्वान किया था कि सिस्टम में बदलाव किया जाना चाहिए ताकि बिजनेस में नई चीजें शुरू करने के प्रयासों को दबाने नहीं जाए। उन्होंने वैश्विक बैंकिंग नियमों को ‘बुजुर्गों लोगों का क्लब’ करार दिया था।

इस भाषण के बाद चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी भड़क उठी। जैक मा की आलोचना को कम्युनिस्ट पार्टी पर हमले के रूप में लिया गया। इसके बाद जैक मा के बुरे दिन शुरू हो गए। उनके कारोबार के खिलाफ तरह-तरह की जांच शुरू कर दी गईं। राष्ट्रपति शी जिनपिंग के इशारे पर चीनी अधिकारियों ने जैक मा झटका देते हुए पिछले साल नवंबर में उनके एंट ग्रुप के 37 अरब डॉलर के आईपीओ को निलंबित कर दिया।

Also read:  किसान आंदोलन : दिल्ली ब्लॉक करने की किसानों की धमकी के बाद अमित शाह की बैठक

एक मीडिया रिपोर्ट में इसकी पुष्टि की थी कि जैक मा के एंट ग्रुप के आईपीओ को रद करने का आदेश सीधा चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की ओर से आया था। क्रिसमस की पूर्व संध्या पर जैक मा को निर्देश दिए गए कि वह तब तक चीन से बाहर न जाएं, जब तक कि उनके अलीबाबा ग्रुप के खिलाफ चल रही जांच को पूरा नहीं कर लिया जाता है।

Also read:  CDS में सेना को लीड करने के साथ कई गुणों का होना जरूरी, नरवणे रेस में क्यों हैं आगे जानिए

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, जैक मा बीते दो महीनों में कई कार्यक्रमों में शामिल होने वाले थे, लेकिन आखिरी वक्त पर उनका नाम अतिथि अथवा वक्ता की सूची से हटा दिया गया। नवंबर में मशहूर शो ‘अफ्रीका के बिजनेस हीरोज’ के एपिसोड से भी रहस्यमय तरीके से उनका नाम हटा दिया गया। शो के पोस्टर से भी उनकी तस्वीर हटा दी गई। बता दें कि इस शो को प्रोड्यूस करने वाली कंपनी जैक मा की ही है और उन्हें खुद के शो से ही बाहर होना पड़ा है।