English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-21 122716

रविवार को सीएम उद्धव ठाकरे और तेलंगाना के सीएम केसीआर के बीच हुई मुलाकात हुई संजय राउत ने मुलाकात के बाद कहा कांग्रेस के बगैर बीजेपी विरोधी फ्रंट की कल्पना भी हो सकती है केसीआर विभिन्न राजनीतिक दलों को लेकर बीजेपी के खिलाफ फ्रंट बनाने की कवायद कर रहे हैं।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा है कि कांग्रेस के बिना देश में भाजपा विरोधी फ्रंट बनना संभव नहीं है।

शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने यह बयान रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, एनसीपी नेता शरद पवार और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव से बीच हुई मुलाकात के बाद दिया।

Also read:  प्रदीप मेहरा की मदद के लिए सामने आए लोग, रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने दिया मदद का आश्वासन

संजय साउत ने स्पष्ट किया है कि वर्तमान हालात में बिना कांग्रेस के बीजेपी विरोधी किसी भी राजनीतिक मोर्चे की कल्पना ही नहीं हो सकती है। संजय राउत ने इस मामले में जोर देते हुए कहा, “शिवसेना ने कभी नहीं कहा कि कांग्रेस के बगैर कोई फ्रंट बनेगा, ममता बनर्जी ने जब यह बात कही थी तब शिवसेना वो पहली राजनीतिक पार्टी थी, जिसने स्पष्ट कहा था कि उन्हें कांग्रेस को भी साथ लेने के बारे में सोचना चाहिए।”

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादक संजय राउत ने कहा कि कल मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर के बीच विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। राउत ने आगे कहा कि इसमें राजनीतिक फ्रंट के साथ-साथ देश के वर्तमान हालात के बारे में गहन चर्चा हुई। दोनों नेताओं की बीत कई महत्वपूर्ण विषयों पर आपसी सहमति बनी। केसीआर बहुत ही ऊर्जावान और जुझारू नेता हैं और सबको साथ में लेकर चलने में भरोसा रखते हैं।

Also read:  पंजाब जीत के बाद हिमाचल में सक्रिय हुई आप, आज मंडी में रोड शो करेंगे केजरीवाल और भगवंत मान

मालूम हो कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर ने भाजपा के खिलाफ विपक्षी दलों को एकजुट होने का आह्वान किया। शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ ने रविवार को कहा कि दोनों मुख्यमंत्रियों के बीच इस बैठक से भाजपा के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर राजनीतिक एकता को मजबूत बनाने में बल मिलेगा।

Also read:  PM मोदी ने यूक्रेस से लौटे छात्रों से की बात, कहा- 'नीतियां सही होतीं तो बच्चों को पढ़ने विदेश नहीं जाना पड़ता'

वहीं इस मुलाकात से पहले तेलंगाना के सीएम केसीआर ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा था कि इस पार्टी को देश से ”निष्कासित” कर देना चाहिए नहीं तो यह देश ”बर्बाद” हो जाएगा। इसके साथ ही केसीआर ने विपक्षी दलों से अपील की कि वो भाजपा को सत्ता से “बाहर” करने के लिए साझा मंच पर साथ आएं। अपने इस योजना के तहत केसीआर जल्द ही बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मिलने की भी मिलने वाले हैं।