English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-03-15 104247

देश के पांच राज्यों में आए विधानसभा चुनावों के नतीजे और महाराष्ट्र में सत्ता और विपक्ष के बीच जारी संग्राम के बीच कांग्रेस विधायक एक अजीब बयान सामने आया है।

महाराष्ट्र के सोलापुर से कांग्रेस विधायक प्रणीति शिंदे ने सोमवार को कहा कि ‘योगियों’ और ‘महाराजाओं’ की जगह मंदिर और मठ हैं, राजनीति नहीं।

सोलापुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा

शिंदे ने यहां से करीब 250 किलोमीटर दूर सोलापुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को नजर में रखते हुए विवादास्पद कृषि कानून वापस लिए और उसने वह चुनाव आसानी से जीत लिया।

Also read:  बीजेपी ने दिखाई गठबंधन की ताकत,सहयोगी दलों के साथ मिलकर लड़ेंगी चुनाव

पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशील कुमार शिंदे की बेटी प्रणीति शिंदे ने कहा, ”हम योगियों और महाराजाओं का सम्मान करते हैं, लेकिन उनका स्थान मंदिरों और मठों में हैं, राजनीति में नहीं। जब योगी और महाराजा राजनीति में प्रवेश करते हैं, तो देश बर्बाद होना शुरू हो जाता है।”

Also read:  PM मोदी देश से करेंगे मन की बात, जम्मू कश्मीर को देंगें 20 हजार करोड़ की सौगात

केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा..

उन्होंने कहा, “काम करने वालों के पीछे खड़ा होना जरूरी है। लोकतंत्र को जिंदा रखना है तो काम को अहमियत दो।” उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ”केंद्र ने कृषि कानून रद्द करने के लिए एक साल का इंतजार किया और इस दौरान 700 लोगों की मौत हो गई। ….. शर्म आनी चाहिए।”

Also read:  WHO ने कहा, AstraZeneca की कोरोना वैक्सीन पर रोक लगाने की कोई वजह नहीं