English മലയാളം

Blog

Screenshot 2021-12-28 114936

किंग महेंद्र (King Mahendra property) बिहार की मिट्टी से उठकर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी काबिलियत से नई पहचान बनाने वाली शख्सियत का नाम है। उन्होंने अपनी मेहनत से बिजनेस एम्पायर तो बनाया ही, साथ ही उन्होंने हजारों लोगों को रोजगार मुहैया कराया।

जेडीयू के राज्यसभा सांसद और देश के बड़े दवा कारोबारी किंग महेंद्र (King Mahendra) का दिल्ली में निधन हो गया है। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। रविवार की आधी रात करीब 12.30 बजे उन्‍होंने आखिरी सांसें लीं. उनके निधन के बाद राजनीतिक दलों में शोक की लहर है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar), पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi), पशुपति कुमार पारस (Pashupati Kumar Paras) ने संवेदना प्रकट की है।

Also read:  'मन की बात' में बोले PM मोदी, हमारे युवा साथियों की पढ़ाई और सीखने के तरीकों को ही बदल दिया

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रसिद्ध उद्योगपति महेंद्र प्रसाद के निधन पर दुख जताया और गहरी संवेदना प्रकट की। मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि वे (महेंद्र प्रसाद) एक कुशल राजनेता एवं प्रसिद्ध उद्योगपति थे। वे सरल स्वभाव के और काफी मिलनसार व्यक्ति थे। उनके निधन से राजनीतिक, सामाजिक एवं औद्योगिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री ने इस दौरान महेंद्र प्रसाद के बड़े भाई उमेश शर्मा उर्फ भोला बाबू एवं उनके पुत्र राजीव शर्मा से फोन पर बात कर सांत्वना दी। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए और उनके परिजनों व प्रशंसकों को इस दुख की घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

Also read:  सतेंद्र जैन को तिहाड़ में मिल रहे स्पेशल ट्रीटमेंट को लेकर गृह मंत्रालय शक्त

जीतन राम मांझी ने ट्वीट कर लिखा- “राज्य सभा सांसद श्री महेंद्र प्रसाद जी के निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। दिवंगत आत्मा को भावपूर्ण श्रद्धांजलि। ईश्वर दिवंगत आत्मा को श्री चरणों में स्थान दें एवं शोक-संतप्त परिजनों को संबल बनाएं।”

Also read:  पंजाब में आम आदमी करेगी मुख्यमंत्री के चेहरे का ऐलान, खुद अरविंद केजरीवाल करेंगे नाम घोषित

वहीं पशुपति कुमार पारस ने भी शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा- “जदयू के वरिष्ठ नेता व राज्यसभा सदस्य श्री महेंद्र प्रसाद उर्फ किंग महेंद्र जी का निधन अत्यंत दुःखद है. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें एवं दुख की इस घड़ी में उनके परिवार को संबल प्रदान करें। ॐ शांति।“