English മലയാളം

Blog

कृषि कानूनों (Farm Bills) से जुड़ी हुई याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए सु्प्रीम कोर्ट ने किसान प्रदर्शन (Farmer Protest) को लेकर चिंता जाहिर की है. सीजेआई ने कहा कि हम हालात को समझते है और हम चाहते हैं कि बातचीत से मामले को सुलझाया जाए. इसके साथ ही तीन कृषि कानूनों  को रद्द के खिलाफ एक और याचिका दाखिल की गई है. CJI ने याचिकाकर्ता एमएल शर्मा से पूछा आपको पता है कोर्ट में किसान प्रदर्शन को लेकर क्या चल रहा है? एमएल शर्मा ने कहा कि उन्होंने संशोधित याचिका दाखिल कर दी है.

Also read:  कोलकाता में आग की घटना पर पीएम ने जताया शोक,एक पुलिसकर्मी सहित 9 लोगों की मौत

इसके बाद CJI ने SG तुषार मेहता से पूछा कि किसान प्रदर्शन पर कब सुनवाई  होनी है? तुषार मेहता ने कहा अभी तारीख तय नहीं हुई है. साथ ही कहा कि दूसरे मामलों के साथ इसको मत सुनिए. CJI ने कहा हम इसको दूसरे मामलों के साथ इसलिए सुनना चाहते है कि क्योंकि प्रदर्शन को लेकर अभी तक कोई हल नहीं निकला है. अब सभी याचिकाओं पर 11 जनवरी को सुनवाई होगी. CJI ने कहा हम सभी मामलों पर एक साथ सोमवार को सुनवाई करेंगे. और अगर उस दिन अटॉर्नी जनरल मामले को टालने की मांग रखते है तो सुनवाई टाल दी जाएगी. कोर्ट भी चाहता है कि बातचीत से हल निकाला जाए.

Also read:  किसान आंदोलन : 71 दिन से सड़क पर है अन्नदाता,किसानों का कहना है कि सरकार तीनों कृषि कानून वापस लें.

CJI एस ए बोबडे ने कहा कि किसानों के विरोध के बारे में स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ है. एजी के के वेणुगोपाल ने कहा कि इस बात की अच्छी संभावना है कि पार्टियां निकट भविष्य में किसी नतीजे पर पहुंच सकती हैं.