English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-09-07 145840

अरविंद केजरीवाल ने देश भर में 14,500 स्कूलों के उन्नयन के लिए प्रधानमंत्री स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया (पीएम-एसएचआरआई) योजना का उल्लेख कियाउन्होंने सभी 10 लाख सरकारी स्कूलों को अपग्रेड करने की योजना की मांग की उन्होंने कहा कि 27 लाख छात्रों में से 18 लाख सरकारी स्कूलों में जाते हैं

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर कहा कि देश के 80 फीसदी से अधिक सरकारी स्कूल “जंकयार्ड से भी बदतर” हैं। उन्होंने देश भर में 14,500 स्कूलों के उन्नयन के लिए प्रधानमंत्री स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया (पीएम-एसएचआरआई) योजना का उल्लेख किया और सभी 10 लाख सरकारी स्कूलों को अपग्रेड करने की योजना की मांग की।

केजरीवाल ने अपने पत्र में लिखा, “आपने 14,500 स्कूलों के आधुनिकीकरण की योजना बनाई है, लेकिन अगर हम इस गति से काम करते हैं, तो हमारे सभी सरकारी स्कूलों को अपग्रेड करने में 100 साल लगेंगे। मेरा आपसे अनुरोध है कि देश के सभी 10 लाख सरकारी स्कूलों के पुनर्विकास की योजना तैयार करें।” उन्होंने कहा कि 27 लाख छात्रों में से 18 लाख सरकारी स्कूलों में जाते हैं।

Also read:  कानपुर जुमे की नमाज के बाद अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने पुलिस पर किया पथराव, पथराव में दो लोग हुए घायल,

 

केजरीवाल ने आगे कहा कि 80 फीसदी से ज्यादा सरकारी स्कूलों की हालत कबाड़खाने से भी बदतर है। अगर हम अपने करोड़ों बच्चों को ऐसी शिक्षा देंगे तो भारत कैसे विकसित देश बनेगा? देश ने 1947 में हर गांव और कस्बे में अच्छे सरकारी स्कूलों का विकास नहीं कर एक बड़ी गलती की। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि अगले 75 वर्षों में भी हमने अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देने पर ध्यान नहीं दिया। क्या भारत और समय बर्बाद करता रहेगा?

Also read:  प्रशांत किशोर कर सकते बड़ा एलान, कांग्रेस में हो सकते हैं शामिल, दिल्ली में सोनिया-राहुल संग चुनावी रणनीतिकार की बैठक

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को शिक्षक दिवस के अवसर पर पीएम-श्री योजना के तहत मॉडल स्कूलों के विकास की घोषणा की थी। वहीं, अपने पत्र को ट्वीट करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कैप्शन में लिखा, “प्रधानमंत्री जी को मेरा पत्र। उन्होंने 14,500 स्कूलों को अपग्रेड करने का एलान किया, बहुत अच्छा। लेकिन देश में 10 लाख सरकारी स्कूल हैं। इस तरह तो सारे स्कूल ठीक करने में सौ साल से ज्यादा लग जायेंगे। आपसे अनुरोध है कि सभी दस लाख स्कूलों को एक साथ ठीक करने का प्लान बनाया जाए।”

Also read:  BJP को प्रशांत किशोर ने बताया बड़ी ताकत, कहा- बीजेपी के विजयी रथ को रोकपाना असंभव