English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-10-04 134936

राजस्थान में चल रहे सियासी घटनाक्रम के बीच अब अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) खेमे के मंत्री राजेन्द्र गुढा (Rajendra Gudha) भी सचिन पायलट (Sachin Pilot) के समर्थन में उतर आए हैं।

 

गुढा ने सचिन पायलट को अभिमन्यु बताते हुए बड़ा बयान दिया है। गुढा ने पिछले दिनों जयपुर में हुए राजनीतिक घटनाक्रम को पायलट के खिलाफ षड्यंत्र बताया है। उन्होंने कहा कि पायलट को अभिमन्यु की तरह छल से घेरा जा रहा। पायलट के खिलाफ षड्यंत्र किया गया था। गुढा यहीं नहीं थमे और कहा पायलट की इमेज खराब करने की कोशिश की गई। इसमें वे सफल भी हुए। गुढा बोले 2018 मे जो लोग लाइन में खड़े थे उन्हें पायलट ने टिकट दिलाया और जिताया। लेकिन बाद में उन्होंने ही पायलट के साथ धोखा किया।

Also read:  रेल मंत्री ने ल‍िया चौंकाने वाला फैसला, रेलवे में सालों से चली आ रही परंपरा खत्म

सैनिक कल्याण मंत्री राजेंद्र गढ़ा ने यह बयान सोमवार को झुंझुनूं के जिले उदयपुरवटी इलाके में आयोजित एक धार्मिक कार्यक्रम में दिया। गुढा इसी विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। बसपा से चुनाव जीतकर कांग्रेस में शामिल हुए गुढा को गहलोत का सिपाहसालार माना जाता है। सियासी संकट में भी गहलोत खेमे के साथ खड़े थे। लेकिन मंत्री राजेंद्र गुढा अब पायलट की जमकर तारीफ कर रहे हैं। एक तरफ जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लगातार पायलट की पिछली बगावत को याद दिला रहे हैं वहीं उनके खेमे के मंत्री गुढा पायलट का पुरजोर बचाव करने में जुटे हैं।

Also read:  कृष्ण जन्मभूमि-शाही ईदगाह मामले की याचिका पर आज होगी सुनवाई, सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में याचिकाकर्ता अपनी दलील रखेंगे

गुढा ने लगाया आरोप, कहा-पायलट के साथ छल किया गया

पायलट राजस्थान में बीते 25 सितंबर हुए राजनीतिक घटनाक्रम के बाद पायलट खेमा पूरी तरह से चुप्पी साधे बैठा है। ऐसे में गहलोत खेमे के मंत्री राजेंद्र गुढ़ा के बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं। गुढा ने कहा कि मैंने पायलट को सावचेत भी किया था। अभी पायलट के साथ छल किया गया। उन्होंने कहा कि पायलट के लिए जिस तरह की भाषा का प्रयोग कर रहे हैं वह गलत है। पायलट ने इतनी गालियां सुनने के बाद भी संयम नहीं खोया। यह बड़ी बात है। नकली लोग नजदीक लगे और उन्होंने ही षड्यंत्र किया।

Also read:  पंजाब में शुरूआती रुझान में कांग्रेस-आप में कड़ी टक्कर

गुढा ने उठाया सवाल पायलट सीएम क्यों नहीं बन सकते?

उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्य सचेतक के लोगों ने छल किया। उन्होंने भी तो आलाकमान से गद्दारी की है। उन्होंने दिल्ली से आने वाले लोगों से बगावत की। ये गद्दारी है। गुढ़ा ने सवाल उठाया कि जब मानेसर जाने वाले कैंप में से पांच विधायक मंत्री बन सकते हैं तो पायलट को मुख्यमंत्री क्यों नहीं बनाया जा सकता? मंत्री राजेंद्र गुढा ने नाम लिए बिना मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास के खून की नदियां बहाने वाले बयान पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि खून की नदियां बहाने वाले को भी मैं जानता हूं। वो क्या कर सकते हैं?