English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-03-15 101925

 गुजरात (Gujarat) के मुंद्रा बंदरगाह (Mundra Port) पर पिछले साल पकड़ी गई 2998 किलो हेरोइन के मामले में जांच एजेंसी (NIA) ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। इस मामले में एनआईए ने कुल 16 लोगों को आरोपी बनाया है।

 

एनआईए ने गुजरात के एक बंदरगाह के जरिये भारत में 2,988 किलोग्राम मादक पदार्थों की तस्करी करने के लिए सोमवार को 16 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया, जिसमें 11 अफगान नागरिक और एक ईरानी शामिल हैं। एनआईए की एक विशेष अदालत में आरोप पत्र दायर किया गया है।

Also read:  जम्मू-कश्मीर में भारी बर्फबारी, जनजीवन अस्त-वस्त 6 लोग लापता

मामला पिछले साल 13 सितंबर का है जब राजस्व आसूचना विभाग (डीआरआई) ने गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर 2,988 किलोग्राम हेरोइन जब्त की थी। एनआईए ने सितंबर, 2021 में गुजरात में मुंद्रा बंदरगाह पर 2,988.21 किलो मादक पदार्थ (हेरोइन) की जब्ती को लेकर खरीद में और खेप पहुंचाने में विदेशी नागरिकों की संलिप्तता को लेकर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) कानून, स्वापक औषधि एवं मन: प्रभावी पदार्थ अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत एक मामला दर्ज किया था।

Also read:  ओमिक्रोन के बढ़ते खतरे के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय की EC के साथ बैठक, चुनावी रैलियों पर लग सकती है रोक

एनआईए की चार्जशीट में जिन लोगों के नाम हैं, उनमें तमिलनाडु के चेन्‍नई का माचावरम सुधाकर, चेन्‍नई का दुर्गा पूरन गोविंदराजू वैशाली, कोयंबटूर का राज‍कुमार पेरूमल, गाजियाबाद के साहिबाबाद का प्रदीप कुमार के अलावा 11 अफगानी लोग शामिल हैं।

Also read:  बीजेपी के शासन में सबसे 'सुरक्षित और खुश' हैं देश के मुसलमान- RSS के मुस्लिम मंच

एनआईए ने बताया है कि 2988 किलो हेराइन बरामदगी मामले की जांच में पता चला है कि इसे अफगानिस्‍तान के कंधार में स्थित हसन हुसैल लिमिटेड कंपनी के नाम से ईरान के बांदार अब्‍बास बंदरगाह के जरिये भेजा गया था। इसे भारत में आशी ट्रेडिंग कंपनी ने आयात किया था। एनआईए का कहना है कि मामले में आगे की जांच जारी है।