English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-05-14 213010

गुना के आरोन इलाके में बदमाशों द्वारा की गई 3 पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या की सनसनीखेज वारदात को लेकर मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं।

 

उन्होने ट्वीट करके मध्यप्रदेश को अपराधियों का गढ़ कहा है। वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों के हौंसले इतने बुलंद थे कि उन्होनें बेखौफ होकर 3 पुलिसकर्मियों की हत्या की दी और फरार हो गए। वारदात के बाद पुलिस की एक इंसास रायफल भी गयाब है। इस हत्याकांड से जहां पुलिस महकमे मे हड़कंप मचा हुआ है वहीं अब पुलिस विभाग लूटी गई इंसास रायफल को लेकर भी चिंतित है।

दरअसल गुना के सगा बरखेड़ा इलाके मे शिकार करके जा रहे बदमाशों ने पुलिस से हुई मुठभेड़ के दौरान अंधाधुंध फायरिंग करते हुए 3 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी। आरोन थाना पुलिस शिकारियों की सूचना पर सगा बरखेड़ा पहुंची थी, पुलिस को अंदाजा नहीं था कि बदमाश इस तरह से पुलिस पर हमला कर देंगे। अचानक हुए इस हमले मे एसआई राजकुमार जाटव, प्रधान आरक्षक नीरज भार्गव, आरक्षक संतराम मीना की गोली लगने से दर्दनाक मौत हो गई जबकि पुलिस वाहन चला रहा ड्रायवर गोली लगने से घायल हो गया।

Also read:  गुजरात के सुरत में पुलिसकर्मी ने कपड़ा व्यापारी को हनी ट्रैप में फंसाकर मांगे 5 लाख रुपए, आरोपी गिरफतार

पुलिस की इंसास रायफल भी हुई गायब

इस सनसनीखेज वारदात के बाद पुलिस की एक इंसास रायफल भी गायब है।। एसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि हमलावर 3 मोटरसाइकलों पर सवार थे। हमलावरों की संख्या 7-8 थी। हमलावरों ने पुलिस पर गोलियां चलाई तो पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की लेकिन 3 पुलिसकर्मियों की जान चली गई। घटनास्थल पर पुलिसकर्मियों के शव के अलावा पुलिस को काले हिरन और मोर के शव भी मिले हैं।

Also read:  'सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तांतरण हो', अमेरिकी संसद परिसर में हिंसा पर पीएम मोदी ने जताई चिंता

पूर्व सीएम ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर उठाए सवाल

मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया है। पूर्व सीएम ने लिखा है कि- शांति का टापू कहा जाने वाला मध्यप्रदेश अब अपराधियों का गढ़ है। वहीं मध्यप्रदेश के गृहमंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि ‘हम अपराधियों पर ऐसी कार्रवाई करेंगे जो नजीर बने।’

गुना के प्रभारी मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने जताया दुख

जिले के प्रभारी मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने इस घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। प्रभारी मंत्री ने कहा है कि दोषिय़ों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी, काननू से बढ़कर कोई नहीं है।

Also read:  हरिद्वार में स्नान पर लगी रोक, कोरोना बढ़ने पर श्रद्धालुओं को बॉर्डर से भेजा जा रहा वापस 

सीएम शिवराज सिंह ने ग्वालियर आईजी अनिल शर्मा को हटाया

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने घटना स्थल पर देरी से पहुंचने की वजह से ग्वालियर आईजी अनिल शर्मा को हटा दिया है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मृतक पुलिसकर्मियों को शहीद का दर्जा देने की घोषणा की है। इसके साथ शहीद के परिजनों को एक एक करोड़ रुपय की सम्मान निधि देने के साथ ही परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की बात भी कही है।