English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-07-16 200203

गोवा में पिछले कई दिनों से कांग्रेस के कुछ विधायकों को बीजेपी में शामिल होने की अकटलें लगाई जा रही हैं। इससे पहले कांग्रेस के विधायक ने बीजेपी पर अफवाह फैलाने की बात कही थी। लेकिन इसके बावजूद गोवा कांग्रेस में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। इस बीच कांग्रेस ने 11 में से पांच विधायक को राष्ट्रपति चुनाव से पहले चेन्नई शिफ्ट कर दिया है।

 

पांच विधायक संकल्प अमोनकर, यूरी अलेमाओ, अल्टोन डी कोस्टा, रूडोल्फ फर्नांडीस और कार्लोस अल्वारेस फरेरा को शुक्रवार शाम को विधानसभा सत्र की कार्यवाही समाप्त होने के तुरंत बाद चेन्नई भेज दिया गया। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि ये सभी विधायक शुक्रवार को सत्र समाप्त होने के बाद सीधे चेन्नई गए।

Also read:  राजस्थान में तीन मंदिरों पर चला सरकार का बुलडोजर, भड़की VHP, कहा-राजस्थान के लोग निकालेंगे कांग्रेस की अंतिम यात्रा

ये विधायक इस ग्रुप का हिस्सा नहीं

उन्होंने कहा कि वे सोमवार को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में भाग लेने के लिए सीधे गोवा लौटेंगे। 11 जुलाई से शुरू गोवा विधानसभा का मानसून सत्र अगले शुक्रवार तक चलेगा। सूत्रों ने कहा कि विपक्षी दल के छह अन्य विधायक पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत, माइकल लोबो, डेलियालाह लोबो, केदार नाइक, एलेक्सो सिकेरा और राजेश फलदेसाई उस ग्रुप का हिस्सा नहीं हैं जो चेन्नई गए हैं।

Also read:  मध्यप्रदेश में 'धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक-2020' कल से लागू, 10 साल तक की सजा का है प्रावधान

माइकल लोबो और कामत पर लगा ये आरोप

वहीं, माइकल लोबो ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि पांच अन्य विधायकों को चेन्नई क्यों ले जाया गया। पिछले रविवार को कांग्रेस ने माइकल लोबो को विधानसभा में विपक्ष के नेता के पद से हटा दिया था। उन पर और कामत पर पार्टी के खिलाफ साजिश रचने और पार्टी के राज्य विधायी विंग को विभाजित करने के लिए “भाजपा के साथ संबंध बनाने” का आरोप लगाया था।

Also read:  उत्तराखंड में नेताओं को बारिश और बर्फबारी में प्रचार करना बड़ी चुनौती