English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-07-12 144145

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने मंगलवार को कहा कि प्रदेश कांग्रेस के विधायक दल में ‘बगावत’ से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का कोई लेना-देना नहीं है।

 

मालूम हो कि रविवार को गोवा के कुल 11 कांग्रेस विधायकों में से पांच के साथ कोई संपर्क नहीं हो पा रहा था जिससे पार्टी में फूट की अटकलों को हवा मिल गई। हालांकि, इन विधायकों ने सोमवार से शुरू हुए राज्य विधानसभा के मानसून सत्र में हिस्सा लिया और दावा किया कि विपक्षी दल में ‘कुछ भी गड़बड़ नहीं’ है।

Also read:  कोरोना संकट के बीच उत्तर प्रदेश में 15 दिलों तक स्कूलों का शीतकालीन अवकाश

कांग्रेस के दस विधायक सोमवार रात पणजी में पार्टी के वरिष्ठ नेता मुकुल वासनिक की अध्यक्षता में हुई बैठक में भी शामिल हुए।मंगलवार को विधानसभा परिसर के बाहर कुछ संवाददाताओं ने मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता सावंत से राज्य कांग्रेस के नवीनतम घटनाक्रम को लेकर सवाल पूछा।

Also read:  भारत चीन संबंध पर बोले विदेश मंत्री एस जयशंकर- 'बेहद कठिन दौर' से गुजर रहे हैं

जवाब में सावंत ने कहा, “मैं दोहराता हूं कि कांग्रेस विधायक दल में बगावत से भाजपा का कोई लेना-देना नहीं है।” उन्होंने किसी और प्रश्न का उत्तर नहीं दिया और आगे बढ़ गए। कांग्रेस के पांच विधायकों-माइकल लोबो, दिगंबर कामत, केदार नाइक, राजेश फलदेसाई और डेलियाला लोबो से रविवार को संपर्क न हो पाने की खबरों के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वासनिक से फौरन गोवा जाने के लिए कहा था।

Also read:  सीएनजी की कीमतों में बढ़ोतरी, 6 दिन में दो बार हुई बढ़ोतरी, सीएनजी की नई कीमत 78.17 रुपये हुई

कांग्रेस ने लोबो और पूर्व मुख्यमंत्री कामत पर सत्तारूढ़ भाजपा के साथ ‘साजिश रचने और मिलीभगत’ करने का आरोप लगाया था, ताकि पार्टी के विधायक दल में फूट डाली जा सके। कांग्रेस ने लोबो को 40 सदस्यीय राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के पद से भी हटा दिया था।