English മലയാളം

Blog

इस्लामाबाद: 

पुलवामा हमले (Pulwama Terror attack) में पाकिस्तानी एजेंसियों की संलिप्तता का एक और सबूत सामने आया है. पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने संसद में बयान के दौरान दावा किया कि पुलवामा हमले में हमने हिन्दुस्तान में घुसकर मारा, लेकिन जब उनके इस बयान पर विवाद हुआ तो उन्होंने इसे नए तरीके से पेश कर जान बचाने की कोशिश की.

चौधरी ने नेशनल असेंबली में कहा, ” हमने हिन्दुस्तान को घुसके मारा, पुलवामा इमरान खान की अगुवाई में हमारी अवाम की कामयाबी थी. हम सब आप इस कामयाबी में शरीक थे. ” पाकिस्तान के मंत्री की ओर से यह सनसनीखेज कबूलनाम ऐसे वक्त आय़ा जब विपक्ष के नेता अयाज सादिक ने विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के बीच एक तनावपूर्ण बैठक का खुलासा किया था. यह बैठक नियंत्रण रेखा के पास भारत और पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों के बीच आसमान में आमने-सामने आने के बीच हुई थी.

Also read:  कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई खत्म नहीं हुई है, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने किया आगाह

इससे सीमापार आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान की कलई एक बार फिर खुल गई है. पुलवामा हमले में 40 भारतीय जवानों की मौत हो गई थी.असेंबली में फवाद चौधरी के बयान पर बवाल होते ही मंत्री अपना बचाव करने की कोशिश करते नजर आए. चौधरी ने सुधार कर कहा, ” पुलवामा के वाकये के बाद जब हमने इंडिया को घुस के मारा.”

Also read:  भारत सरकार का आदेश मानने के मूड में नहीं Twitter, कहा - ऑर्डर भारतीय कानूनों के अनुरूप नहीं

यह बैठक नियंत्रण रेखा के पास भारत और पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों के बीच आसमान में आमने-सामने आने के बीच हुई थी. कुरैशी ने चीफ ऑफ स्टाफ जनरल कमर जावेद बाजवा से कहा था कि अगर पाकिस्तान पायलट अभिनंदन वर्धमान को नहीं छोड़ता है तो भारत रात नौ बजे तक उनके देश पर हमला कर देगा. पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमान का पीछा करने के दौरान अभिनंदन का मिग-21 विमान क्रैश होकर गया था. हालांकि अभिनंदन पैराशूट के जरिये सकुशल उतर गए, लेकिन वह एलओसी के दूसरी ओर पहुंच गए और पाकिस्तानी सैनिकों ने उन्हें बंदी बना लिया था.

दोनों पक्षों के बीच यह टकराव भारतीय वायुसेना द्वारा बालाकोट (Balakot) में जैश ए मोहम्मद के एक ठिकाने को नेस्तनाबूद करने के बाद छिड़ा था. भारत ने 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर पुलवामा हुए हमले के जवाब में यह एयर स्ट्राइक की थी.सादिक ने कहा था, “मुझे याद है कि शाह महमूद कुरैशी उस बैठक में थे, जिसमें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शरीक होने से मना कर दिया था. चीफ ऑफ आर्मी स्टॉफ जनरल बाजवा उस वक्त कमरे में आए. उनके पैर कांप रहे थे औऱ आवाज लड़खड़ा रही थी. विदेश मंत्री ने कहा था कि अल्लाह की खातिर अभिनंदन को जाने दो. भारत रात नौ बजे तक हमला करने वाला है.”