English മലയാളം

Blog

Screenshot 2023-07-18 144727

भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में शामिल होने के एक दिन बाद यानी मंगलवार को चिराग पासवान ने बड़ा दावा किया। लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के प्रमुख चिराग पासवान ने कहा कि उनकी पार्टी बिहार में हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेगी। वे खुद इस सीट से मैदान में उतरेंगे।

चिराग पासवान के दावे पर हाजीपुर के सांसद और आरएलजेपी प्रमुख पशुपति कुमार पारस ने अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि हाजीपुर से चुनाव लड़ने का उनका दावा निराधार है। मैं उन्हें सलाह देना चाहूंगा कि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों के साथ विश्वासघात न करें और अपनी वर्तमान सीट से चुनाव लड़ें।

Also read:  जापान में बोले पीएम मोदी भारत 'अमृत काल' में प्रवेश करने के साथ महत्वाकांक्षी लक्ष्यों की प्राप्ती के लिए रोडमैप तैयार कर रहा

चिराग के पिता हाजीपुर से कई बार रहे थे सांसद

एनडीए गठबंधन में शामिल होने के बाद न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में चिराग पासवान ने कहा, ”मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि एलजेपी (रामविलास) हाजीपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेगी। बता दें कि हाजीपुर सीट चिराग पासवान के लिए काफी महत्वपूर्ण है। उनके पिता रामविलास पासवान इस निर्वाचन क्षेत्र से कई बार सांसद रह चुके थे। वे केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार में कैबिनेट मंत्री भी थे। केंद्रीय मंत्री रहते हुए 2020 में उनका निधन हो गया था।

Also read:  पीएम मोदी आज जारी करेंगे सिक्कों की स्पेशल सीरीज, 1 रुपये, 2 रुपये 5, 10 रुपये और 20 रुपये के सिक्कों की विशेष श्रृंखला करेंगे जारी

2019 में हाजीपुर से रामविलास के भाई पशुपति पारस बने थे सांसद

रामविलास पासवान के भाई पशुपति कुमार पारस 2019 में हाजीपुर के सांसद बने थे। रामविलास पासवान के निधन के तुरंत बाद दिवंगत रामविलास पासवान की एलजेपी से अलग होने के बाद वे केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हो गए थे। उधर, हाजीपुर सीट को लेकर केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस के आरोपों का जवाब देते हुए, जमुई से सांसद चिराग पासवान ने कहा कि उनके चाचा ने जो कहा, उसके बारे में उन्हें बुरा नहीं लगा और उन्होंने कहा कि उनके मन में उनके लिए बेहद सम्मान है।

Also read:  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत ने कहा- 15 साल में भारत फिर से अखंड भारत बनेगा

उन्होंने कहा, “वह मुझसे बड़े हैं। वह मेरे चाचा हैं और उन्हें आलोचना करने का पूरा अधिकार है। मैं उन्हें ऐसे लहजे में जवाब नहीं दूंगा। मेरी परवरिश में मुझे इस बारे में नहीं सिखाया गया।”