English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

चीन के साथ बढ़ते सीमा गतिरोध के बीच भारत को नौसेना के क्षेत्र में एक ‘नया सहयोगी’ (Naval Alliance)मिल गया है. भारत की ओर से कहा गया है कि आगामी मालाबार नौसेना युद्धाभ्यास (Malabar naval exercises) में अमेरिका और जापान के साथ ऑस्ट्रेलिया (Australia) भी हिस्‍सा लेगा.मालाबार संयुक्‍त युद्धाभ्‍यास नवंबर माह में अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में होगी. दरअसल, सबसे पहले भारत और अमेरिका मिलकर यह नौसेना युद्धाभ्‍यास करते थे, वर्ष 2015 में जापान इसमें शामिल हुआ जबकि ऑस्‍ट्रेलिया इसमें अब शामिल हुआ है.

Also read:  राहुल गांधी का तंज- 'नफरत भरे राष्ट्रवाद के 6 साल की उपलब्धि, भारत से आगे जाने को बांग्लादेश तैयार'

भारत और अमेरिका की द्विपक्षीय नौसेना सहयोग के तहत मालाबार युद्धाभ्‍यास वर्ष 1992 में शुरू किया गया था. वर्ष 2018 में यह वार्षिक युद्धाभ्‍यास फिलीपींस की गुआम के तट पर और 2019 में जापान के तट पर हुआ था. इस वर्ष यह बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में आयोजित होने की संभावना है.

Also read:  SC ने कहा- जमीनी हकीकत जानने के लिए बना रहे कमेटी, कानून के अमल पर लगा सकते हैं रोक

मालाबार नौसेना युद्धाभ्‍यास में ऑस्‍ट्रेलिया को शामिल करने का मुद्दा इस माह की शुरुआत में Quad (चार देशों के) विदेश मंत्रियों की चर्चा के दौरान उठा था. जापान और अमेरिका ने ऑस्‍ट्रेलिया को शामिल करने के पक्ष में राय जताई थी, इस पर भारत ने कहा कि ऑस्‍ट्रेलिया को शामिल करने को वह तैयार है. इस संबंध में जारी एक प्रेस बयान में नई दिल्‍ली की ओर से कहा गया है, ‘समुद्री सुरक्षा के मामले में भारत अन्‍य देशों के साथ सहयोग बढ़ाने का इच्‍छुक है. मालाबार 2020 युद्धाभ्‍यास में ऑस्‍ट्रेलिया नौसेना भी भाग लेगा. ‘