English മലയാളം

Blog

Screenshot 2021-12-27 103528

मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर आरोप लगाया था कि पुलिस अधिकारियों से बार व रेस्तरां से हर महीने 100 करोड़ रुपये लेने को कहा था। केंद्रीय जांच ब्यूरो और प्रवर्तन निदेशालय इन आरोपों की जांच में लगे हुए हैं। वर्तमान में वह मुंबई के आर्थर रोड जेल में बंद हैं।

 

100 करोड़ रुपये वसूली मामले में महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की आज न्यायिक हिरासत खत्म हो रही है। अब देखना है कि कोर्ट उन्हें राहत मिलती है या फिर जेल में रहना पड़ सकता है।  देशमुख को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उन्हें गिरफ्तार किया गया था। वर्तमान में वह मुंबई के आर्थर रोड जेल में बंद हैं।

Also read:  कतर में के-पॉप कॉन्सर्ट स्थगित, नई तारीखों की घोषणा बाद में की जाएगी

बीते दिनों चांदीवाल आयोग ने अनिल देशमुख पर 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया। एएनआई के अनुसार, चांदीवाल आयोग ने यह जुर्माना इसलिए लगाया कि अनिल देशमुख के वकील बर्खास्त मुंबई पुलिस अधिकारी सचिन वाजे  की जिरह के लिए मौजूद नहीं थे। जुर्माना सीएम राहत कोष में जमा कराने के निर्देश दिए गए।

Also read:  दिल्ली नगर निगम के चुनाव आते ही राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर लगा रही आरोप

100 करोड़ वसूली का टारगेट देने के आरोपों की जांच कर रहे सीबीआई और ईडी
इस साल मार्च में महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के तत्कालीन गृह मंत्री व राकापा नेता अनिल देशमुख के खिलाफ परमबीर सिंह की ओर से लगाए गए आरोपों की जांच के लिए चांदीवाल आयोग का गठन किया था। मशहूर उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक पाए जाने के बाद मार्च में मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर आरोप लगाया था कि पुलिस अधिकारियों से बार व रेस्तरां से हर महीने 100 करोड़ रुपये लेने का टारगेट दिया गया था । केंद्रीय जांच ब्यूरो और प्रवर्तन निदेशालय इन आरोपों की जांच में लगे हुए हैं।

Also read:  रामशंकर कठेरिया को हुई है 2 साल की सजा, विपक्ष ने कहा-कब जाएगी भाजपा सांसद की सांसदी?