English മലയാളം

Blog

झारखंड के रिम्स अस्पताल के केली बंगला में भर्ती राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की तबीयत एक बार फिर बिगड़ गई है। उनका शुगर लेवल बढ़ गया है। वहीं सीरम क्रिएटिनिन लेवल भी बढ़ता जा रहा है। लालू का इलाज कर रहे मेडिसिन विभाग के इंचार्ज डॉक्टर उमेश प्रसाद ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से लालू बहुत चिंतित और परेशान रहते हैं। ये क्रिएटिनिन लेवल बढ़ने का एक कारण हो सकता है।

Also read:  Coronavirus India: कोरोना पर राहत भरी खबर, छह महीने बाद नए मामलों की संख्या 20 हजार से कम

डॉक्टर ने बताया कि लालू का शुगर लेवल भी बढ़ गया है। ऐसी स्थिति में उनकी किडनी 25 प्रतिशत ही काम कर रही है। यदि उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ तो उनकी किडनी के खराब होने का खतरा है। उनको डायलिसिस की जरूरत पड़ सकती है। यदि वे कोरोना संक्रमित नहीं होते तो उन्हें एम्स भेजा जाता। उन्हें इलाज के लिए बाहर भेजने के लिए परिवार के साथ ही राज्य सरकार की इजाजत भी चाहिए।
इससे पहले लालू ने स्वास्थ्य के आधार पर अदालत से जमानत मांगी थी। दुमका कोषागार से गबन के मामले में उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई होनी थी, जिसे छुट्टी की वजह से टाल दिया गया है। अब 27 नवंबर को उनकी याचिका पर सुनवाई होगी। याचिका में उन्होंने किडनी, हृदय रोग व शुगर सहित 16 प्रकार की बीमारियां होने का भी दावा किया था।

Also read:  बिहार में चुनावी रैली में बोले PM नरेंद्र मोदी, अगर नीतीश सरकार ने त्वरित कार्रवाई नहीं की होती, तो COVID-19 ने कहीं ज़्यादा जानें ली होतीं