English മലയാളം

Blog

एलन मस्क की स्पेस एक्सप्लोरेशन टेक्नोलॉजीज कोर्पोरेशन (स्पेसएक्स) का नया और सबसे बड़ा रॉकेट अपनी तीसरी टेस्ट फ्लाइट में पहली बार सफलतापूर्वक लैंड हो गया। हालांकि थोड़ी देर बाद ही इसमें धमाके के बाद आग लग गई। दरअसल, स्पेसएक्स के स्पेसक्राफ्ट स्टारशिप एसएन10 को शाम के सवा पांच बजे बोला चिका से लॉन्च किया गया था। कंपनी ने इसका एक वीडियो अपनी वेबसाइट पर जारी किया है।

Also read:  बलिया मर्डर: मुख्य आरोपी के बचाव में नजर आए BJP MLA, कहा- 'अगर आत्मरक्षा में गोली नहीं चलाता तो...'

वेबसाइट के अनुसार, रॉकेट ने लैंड पैड को छूने से पहले 10 किलोमीटर तक की उड़ान भरी थी। लैंडिंग के तुरंत बाद रॉकेट में धमाका हो गया और वह आग की लपटों से घिर गया। आग लगने से पहले रॉकेट अपने तीन प्रयासों में पहली सफल लैंडिंग के साथ एक अहम पड़ाव पर पहुंचा है।

बताया जा रहा है कि इस रॉकेट की सफलतापूर्वक लैंडिंग स्पेस ट्रेवल की दिशा में बड़ा कदम होता है। इसकी सफलता स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क के लिए उस योजना की तरफ एक कदम आगे बढ़ाने जैसा है, जिसके तहत वे 2023 तक 12 लोगों को चांद पर भेजना चाहते हैं।

Also read:  किसान आंदोलन में ग्रेटा थनबर्ग से लेकर दिशा रवि तक क्यों आईं लपेटे में,जानिए पूरा मामला

इसके अलावा उनकी योजना में नासा के अंतरिक्षयात्रियों को चांद की सतह तक पहुंचाना और फिर मंगल पर भेजना भी शामिल है। फिलहाल कंपनी अभी भी अपनी पहली कक्षीय उड़ान के लिए स्टारशिप तैयार करने का काम कर रही है, जिसके इस साल के अंत में पूरा होने की आशंका है। इससे पहले मंगलवार को एलन मस्क ने एक वीडियो में कहा था कि मुझे पूरा यकीन है हम 2023 से पहले ही कई बार स्टारशिप के साथ ऑर्बिट तक पहुंचेंगे और फिर 2023 तक वहां इंसानों को पहुंचाना सुरक्षित होगा।