English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-03-12 094207

गोकुलपुरी इलाके की झुग्गियों में बीती रात लगी आग में सात लोगों की मौत हो गई। आग पर काबू पाया गया। दमकल विभाग ने जानकारी दी है कि सात शव बरामद किए गए हैं।

 

दिल्ली के गोकुलपुरी (Gokulpuri) इलाके की झुग्गियों (Shanties) में बीती रात लगी आग में सात लोगों की मौत हो गई। आग (Delhi Fire) पर काबू पाया गया। दमकल विभाग ( Fire Department) ने जानकारी दी है कि सात शव बरामद किए गए हैं। जानकारी के अनुसार आग की चपेट में आकर 60 झुग्गियां खाक हो गई। वहीं शवों को पहचान के लिए मोर्चरी भेज दिया गया है। आग लगने के कारणों की जांच की जा रही है।

वहीं दिल्ली दमकल सेवा ने मंगलवार को उत्तर पश्चिम दिल्ली के बवाना में प्लास्टिक के दाने बनाने की एक फैक्ट्री में लगी आग पर काबू पाने के लिए अन्य संसाधनों के साथ-साथ ड्रोन का भी इस्तेमाल किया था। दमकल विभाग ने आग बुझाने के लिए पहली बार ड्रोन का इस्तेमाल किया। अधिकारियों ने बताया कि इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। दमकल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक यह फैक्ट्री आई-55, सेक्टर-5, डीएसआईडीसी बवाना औद्योगिक क्षेत्र में स्थित है। उन्होंने बताया कि दमकल विभाग को सुबह सात बजकर 47 मिनट पर आग लगने की सूचना मिली।

Also read:  10 प्रतिशत ओमानी नागरिकों ने अभी तक वैक्सीन की दूसरी खुराक नहीं ली

पहली बार किया ड्रोन का इस्तेमाल

अधिकारियों ने बताया कि आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 25 गाड़ियां मौके पर भेजी गई और आग पर काबू पाने के लिए करीब 100 कर्मचारियों को तैनात किया गया था। दिल्ली दमकल विभाग के निदेशक अतुल गर्ग ने कहा कि यह पहली बार है कि हमने आग पर काबू पाने के लिए और संसाधनों के बेहतर समन्वय और उपयोग के लिए एक ड्रोन का इस्तेमाल किया है। कोविड-19 लहर के दौरान, आग की इतनी बड़ी घटना की सूचना नहीं मिली थी।

Also read:  सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री संजय का बड़ा बयान कहा,मुख्यमंत्री पद के लिए कोई भी वैकेंसी नहीं, नीतीश कुमार तब तक इस पद पर बने रहेंगे

गर्मियों की शुरुआत के साथ आग की घटनाओं में आएगी तेजी

उन्होंने कहा कि गर्मियां की शुरुआत के साथ, आग से संबंधित घटनाओं में तेजी होगी। स्थापित कैमरों वाले ड्रोन आग नियंत्रण में बेहतर मदद करते हैं। दमकल विभाग ने कहा कि वर्तमान में उसके पास केवल एक ऐसा ड्रोन है जो मूल रूप से अग्निशामकों को यह अनुमान लगाने में मार्गदर्शन करता है कि आग किस हद तक और कितने क्षेत्र में फैली है और इसके अनुसार संसाधनों का उपयोग विशिष्ट दिशा में आग को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है। उन्होंने बताया कि बवाना में लगी आग पर काबू पा लिया गया। इस बीच, अधिकारियों ने कहा कि आग लगने की एक और सूचना सुबह 11.33 बजे मिली। नरेला के सेक्टर-3 में एक गत्ते की फैक्ट्री में आग लग गई थी। उन्होंने बताया कि आग पर काबू पाने की प्रक्रिया जारी है।