English മലയാളം

Blog

Screenshot 2021-12-28 140840

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की हाई लेवल बैठक में लिया गया फैसला. उन्होंने कहा कि दिल्ली में लगातार दो दिन तक संक्रमण दर 0.5% रही है. ऐसे में लेवल वन येलो एलर्ट जारी कर दिया गया है।

 

देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने हाई लेवल बैठक में लिए फैसले में बताया कि कोरोना (Corona) के बढ़ते हालातों के मद्देनजर दिल्ली में लेवल वन येलो एलर्ट (Yellow Alert) जारी कर दिया गया है। इसके साथ ही कुछ पाबंदियां भी लगाई गई हैं जो आपके लिए ही है। चूंकि राजधानी में लगातार दो दिन तक संक्रमण दर 0.5% से ऊपर आ रहे थे। ऐसे में कोरोना संक्रमण दर 26 दिसंबर को 0.55% और 27 दिसंबर को 0.68% थी। इसलिए ‘येलो अलर्ट’ लागू करने का फैसला लिया गया है।

दरअसल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, पिछले 2-3 दिनों से कोविड संक्रमण के पॉजिटिव मामलों में 0.5% की बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। ऐसे में ’येलो अलर्ट’ लागू करने का फैसला लिया गया है। कुछ चीज़ों पर पाबंदियां लगाई जा रही हैं। वहीं, CM केजरीवाल ने कहा कि पिछले दिनों से कोरोना मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं। हालांकि अधिकतर मामलों में ना तो अस्पताल जाने की ज़रूरत पड़ी रही है ना ऑक्सीजन, ना ही ICU और वेंटिलेटर की ज़रुरत पड़ रही है, वहीं, ओमिक्रॉन संक्रमित लोग घर में ठीक हो रहे हैं।
ऐसे में चिंता करने की ज़रुरत नहीं है।

Also read:  देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 75 लाख के पार, 19 जुलाई के बाद सबसे कम मौतें

जानिए क्या-क्या रह सकते हैं प्रतिबंध?

हालांकि अभी आधिकारिक आदेश का इंतजार बाकी है।

1- दुकानें और माल सुबह 10 से रात 8 बजे तक आड-इवन के आधार पर खुलेंगे।
2- साप्ताहिक बाजार एक जोन में केवल एक खुलेगा, जिसमें 50% दुकानदारों को ही इजाजत होगी।
3- मेट्रो और बसें 50% क्षमता पर चलेंगी।
4- रात 10 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा।
5- रेस्टोरेंट 50 % क्षमता के साथ सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक खुलेंगे।
6- बार 50% क्षमता के साथ दोपहर 12 से रात 10 बजे तक खुलेंगे।
7- सिनेमा हाल, मल्टीप्लेक्स, बैंक्वेट हाल, स्पा, जिम और एंटरटेनमेंट पार्क बंद रहेंगे।
8- नाई की दुकान और सैलून खुल सकेंगे।

Also read:  शीर्ष नौकरियां वास्ता से प्रभावित होती हैं

क्या हैं GRAP प्रणाली?

बता दें कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए DDMA ने जुलाई में ही GRAP लागू करने की मंजूरी दे थी।  इसके मुताबिक दिल्ली में कोरोना संक्रमण दर बढ़ने को ‘रंग कोविड प्रणाली’ में बांटा गया है।  जैसे जैसे कोरोना संक्रमण दर बढ़ती जाती है और कोरोना के नए मामलों में इजाफा होता है, वैसे वैसे सख्त नियम लागू होते जाते हैं. 0.5% से ऊपर संक्रमण दर बढ़ते ही माल और बाजारों को आड-इवन प्रतिबंध के दायरे में आ जाते हैं।

GRAP का मकसद क्या है ?

वहीं,कोरोना मामले में बढ़ोतरी होने पर क्या करना है और क्या लागू होना है इसको लेकर किसी तरह की कंफ्यूजन ना हो इस बात को GRAP में बताया गया है कि कोरोना के कारण कब और किन हालातों में क्या एक्शन लिया जाएगा।  GRAP में संक्रमण की स्थिति को 4 भागों या लेवल में बांटा गया है। GRAP के दौरान ‘रंगों पर आधारित’ 4 तरह के अलर्ट काम करेंगे। जिसमें

Level-1 (येलो),

Level -2 (अंबर),

Level -3 (आरेंज) और

Also read:  कुवैत के गृह मंत्रालय ने प्रवासी ड्राइविंग लाइसेंस रद्द करने पर रोक लगाई

Level -4 (रेड) होगा।

इस दौरान रेड अलर्ट जारी होने पर दिल्ली में पूर्ण लॉकडाउन जैसी स्थिति बन जाएगी, GRAP में कब लाकडाउन लगेगा और कब क्या खुलेगा? सब पहले से निर्धारित किया गया है। आपको बता दें कि अलर्ट के सभी चार स्तर में आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुल सकेंगी और आवश्यक सेवाएं पहले की तरह सुचारु रूप से चलती रहेंगी।

कोरोना के 331 नए मामले मिलने से हड़कंप

गौरतलब है कि बीते 24 घंटों में करोना संक्रमण के 331 मामले दर्ज किए जाने से स्वास्थ्य विभाग (Delhi Health Department) में हड़कंप मच गया है।  हालांकि अब स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर आ गया है।  डर है कि यदि मामले इसी तरह से रफ्तार पकड़ते रहे तो बहुत ही जल्द पाबंदियों को और भी सख्त करना पड़ेगा।  हालात इसी तरह से बिगड़ते रहे तो जल्द ही दिल्ली में येलो अलर्ट (Yellow Alert) जारी करना पड़ सकता है। अगर येलो अलर्ट जारी होता है, तो दुकाने ऑड-ईवन के तहत खुलेंगी। साथ ही पाबंदियां भी सख्त कर दी जाएंगी।