English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

दिल्ली की सीमा पर चल रहे किसानों के विरोध-प्रदर्शनों (Farmers Protest) के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) कल दोपहर 2 बजे मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के किसानों को संबोधित करेंगे. यह संबोधन वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगा.प्रदेश की लगभग 23 हज़ार ग्राम पंचायतों में इसका सीधा प्रसारण किया जाएगा. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) इसके लिए रायसेन में मौजूद रहेंगे. जिला मुख्यालयों में राज्य सरकार के मंत्री और भाजपा के विधायक मौजूद रहेंगे.

Also read:  कोरोना वाइरस: मध्य प्रदेश में 723 कोरोना वायरस के नए मामले , सात लोगों की मौत

इस मौके पर 1600 करोड़ रुपए की राहत राशि राज्य के करीब 35 लाख किसानों के खातों में अंतरित की जाएगी. खरीफ-2020 फसल हानि की राहत राशि का भी वितरण इस दौरान किए जाएगा. लगभग 2,000 पशु एवं मछलीपालक किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) का  भी वितरण किया जाएगा.

Also read:  बिहार में चुनावी रैली में बोले PM नरेंद्र मोदी, अगर नीतीश सरकार ने त्वरित कार्रवाई नहीं की होती, तो COVID-19 ने कहीं ज़्यादा जानें ली होतीं

सरकार की ये पहल सुप्रीम कोर्ट की उस टिप्पणी के एक दिन बाद सामने आई है जिसमें कोर्ट ने केंद्र सरकार से किसानों की समस्या का समाधान अविलंब कराने को कहा था. कोर्ट ने साथ ही यह भी कहा था कि अगर समय पर इसका समाधान नहीं निकलता है तो किसानों का प्रदर्शन राष्ट्रीय हो सकता है.

कल कोर्ट ने मुद्दा सुलझाने के लिए जिस कमेटी के गठन की बात कही थी. कल ही कुंडली सीमा पर सिख संत राम सिंह ने किसानों की समस्या की वजह से खुदकुशी कर ली थी. इसके बाद से सियासी पारा चढ़ा हुआ है. आज दूसरे दिन भी मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने टिप्पणी की कि किसी के राइट टू प्रोटेस्ट के अधिकार में कटौती नहीं कर सकते.