English മലയാളം

Blog

भारत में ब्रिटेन से लौटे यात्रियों में सार्स-COV-2 के नए स्ट्रेन से अब तक 58 लोग संक्रमित पाए गए हैं। देश में मंगलवार को ब्रिटेन म्यूटेंट स्ट्रेन के 20 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही नए स्ट्रेन से संक्रमितों की कुल संख्या 58 हो गई है। एक तरफ जहां देश में कोरोना के दैनिक मामलों में कमी देखी जा रही है तो वहीं दूसरी तरफ नए स्ट्रेन से संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है, जोकि चिंता का विषय है। बता दें कि ये सभी 20 नए मामले पुणे की लैब में मिले हैं।

Also read:  कोरोना की स्थिति पर पीएम मोदी की अगुवाई में सर्वदलीय बैठक शुरू

केंद्रीय स्वास्थ्य स्मंत्रालय के अनुसार ब्रिटेन के नए प्रकार के जीनोम के साथ अब तक देश में कुल 58 नमूनों में इसकी पुष्टि हुई है। सरकार के अनुसार संक्रमित लोगों के साथ यात्रा करने वालों और उनके परिवार के सदस्यों के साथ-साथ अन्य संपर्कों का पता लगाने के लिए बड़े पैमाने पर अभियान चलाया जा रहा है ताकि इसके संक्रमण को रोका जा सके।

बता दें कि ब्रिटेन में मिले नए वायरस के प्रकार से डेनमार्क, नीदरलैंड, आस्ट्रेलिया, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन, स्वीट्जरलैंड, जर्मनी, कनाडा, जापान, लेबनान एवं सिंगापुर में कई लोग संक्रमित हो चुके हैं। ब्रिटेन की बोरिस जॉनसन सरकार ने नए स्ट्रेन के कारण देश में पूर्ण लॉकडाउन लागू कर दिया है। लॉकडाउन के फरवरी तक जारी रहने की संभावना है।

Also read:  गुजरात से राज्यसभा उपचुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने घोषित किए अपने उम्मीदवार

वायरस के नए प्रारूप के तेजी से फैलने के कारण शिक्षक संगठन कुछ हफ्ते के लिए देश भर में सभी स्कूलों को बंद करने की अपील कर रहे थे। जॉनसन ने कहा कि अभिभावकों को सोमवार से अपने बच्चों को उन इलाकों के स्कूलों में भेजना चाहिए जहां वे खुले हुए हैं क्योंकि खतरनाक वायरस से बच्चों को खतरा काफी कम है।

Also read:  18 जनवरी से दिल्ली में खुलेंगे 10वीं-12वीं के स्कूल, अभिभावकों की सहमति से ही जाएंगे बच्चे

उन्होंने रविवार को कहा था कि आगामी हफ्तों में लोगों के लिए कड़े प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं क्योंकि देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में इस सप्ताहांत 57,725 की वृद्धि हुई वहीं मृतकों की कुल संख्या बढ़कर करीब 75,000 हो गई।