English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-21 121709

 दिल्ली के अम्बेडकर नगर इलाके में एक 24 वर्षीय महिला ने, अपनी का मां की दोस्त के साथ मिलाकर गला रेट कर हत्या कर दी। पुलिस ने इस मामले में दोंनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

 

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने मानवीय संवेदनाओं को शर्मशार करने वाले एक मामले का खुलासा किया है। पुलिस ने रविवार को इस घटना के बारे में बताया कि, एक 55 वर्षीय महिला को उसकी बेटी और उसके दोस्त ने मिलकर हत्या कर दी, जब उसने अपनी बेटी को गलत कामों के लिए रोका, पैसा देने से इनकार करने की धमकी दी। उन्होंने आगे बताया कि, इस घटना के बाद आरोपी मृतक महिला की बेटी ने पुलिस से झूट बोला, जहां उसने पुलिस को बताया कि, लूटपाट का विरोध करने के दौरान डकैतों ने महिला की हत्या कर दी।

हत्या के आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस ने इस घटना में मृतक पीड़िता की पहचान सुधा रानी के रूप में की है। वहीं उनकी बेटी और इस घटना में मुख्य आरोपी देवयानी उम्र 24 साल और सह आरोपी कार्तिक चौहान को पुलिस न गिरफ्तार कर लिया है।

Also read:  सपा विधायक ने दिया विवादित बयान, सीएम योगी पर निशाना साधते हुए कहा- उनके मुंह से आवाज निकलेगी तो हमारी बंदूकों से निकलेंगी गोलियां

घटना के बारे में पुलिस ने आगे बताया कि, सुधा रानी शनिवार की रात दक्षिणी दिल्ली के अंबेडकर नगर स्थित अपने घर में अपने बेड पर मृत अवस्था में पाई गई थीं, जहां उनकी गर्दन पर चोट के निशान थे। पुलिस ने कहा कि, वह इलाके में एक दुकान चलाती थीं और बीजेपी कार्यकर्ता थी। 2007 के एमसीडी चुनाव में अंबेडकर नगर से उन्होंने चुनाव भी लड़ा था।

 

आरोपी बेटी देवयानी ने पुलिस को बरगलाने के लिए बताई यह बात

इस घटना के बारे में उनकी बेटी ने पुलिस को बताया कि, दो अज्ञात लोग उनके घर में घुस गए और बंदूक की नोक पर उन्हें लूटने की कोशिश करने लगे। इस लूट का जब उन्होंने ने विरोध किया तो, लुटेरों ने उसकी मां को मार डाला। हालांकि जांच दल को सुधा को खून से लथपथ मिली, लेकिन संघर्ष के कोई निशान नहीं मिला। वहीं मृतका सुधा के शरीर पर ज्वेलरी सही सलामत पाये गये।

Also read:  उत्तराखंड के पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत बहू के साथ आज कांग्रेस का हाथ थाम सकते हैं

दक्षिणी दिल्ली डीसीपी बनिता मैरी जैकर ने इस घटना के संबंध में कहा, “हमने देवयानी का बयान दर्ज किया था और यह पता था कि वह मौके पर मौजूद थी। हालांकि हम लोगों को आरोपी देवयानी की कई गतिविधियां संदिग्ध लगी। घटना स्थल का निरीक्षण किया गया, मौके पर संघर्ष के कोई निशान नहीं थे और थोड़ी सी ज्वेलरी के अलावा कुछ भी गायब नहीं था।

डीसीपी ने आगे बताया कि, मृतका की गर्दन पर गहरा घाव था और काफी खून बह गया था, लेकिन फर्श पर खून नहीं था। हमें लगा कि। देवयानी हमें गुमराह कर रही है और अपना बयान बदल रही है, जिसके बाद हमने उसे पूछताछ के लिए बुलाया और इस मामले में लंबी पूछताछ की।” आरोपी देवयानी ने पुलिस पूछताछ के दौरान अपना जुर्म कबूल कर लिया है। जहां उसने हत्या के लिए अपने दोस्त कार्तिक की मदद लेने की भी बात स्वीकार कर ली है, इस हत्या के दौरान आरोपिता के जरिये पुलिस को बताई डकैती की थ्योरी गलत साबित हुई।

Also read:  मोदी, केजरीवाल पर बरसी प्रियंका गांधी, कहा-मोदी 'बड़े मियां' तो केजरीवाल 'छोटे मियां

वहीं देवयानी ने अपनी मां की हत्या करने के लिए, उनके चाय में नशीला पदार्थ डाल कर पिला दिया। जिसके बाद, दोनों ने मिलकर मृतका सुधा का सर्जिकल ब्लेड से गला रेत कर हत्या कर दी। पुलिस के पहुंचने से पहले, लूट का रंग देने के लिए हत्या शामिल अपने दोस्त कार्तिक को कुछ गहने और नकदी दे दिये। पुलिस ने कहा कि, उन्होंने कार्तिक के कब्जे से हत्या का हथियार, 10 गहने और कुछ नकदी बरामद की है।