English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-09-12 115658

राष्ट्रीय राजधानी में नवनिर्मित कर्तव्य पथ को आम जनता के लिए खोले जाने के बाद रविवार शाम को सैकड़ों की संख्या में लोग इंडिया गेट परिसर में उमड़ पड़े, जिसके चलते पूरा इलाका पिकनिक स्थल में तब्दील हो गया।

 

इंडिया गेट का इलाका कई परिवारों के लिए एक बार फिर पसंदीदा जगह बन गया है, जहां वे सुबह की सैर, दौड़ने और अपने बच्चों को टहलाने के लिए लाया करते हैं। लोगों ने अब कोविड-19 महामारी से पूर्व की स्थिति के अनुसार ही अपनी दिनचर्या शुरू कर दी है। फरीदा जी और उनका परिवार रविवार को पिकनिक मनाने सीताराम बाजार से इंडिया गेट आया था।

Also read:  चेन्नई में बारिश से तबाही, तमिलनाडु के कई जिलों में रेड अलर्ट जारी

उन्होंने परिसर में मैदान पर एक चादर बिछाई और परिवार के सभी सदस्यों ने एक टोकरी में रखे हुए खाद्य और शीतल पेय पदार्थों का आनंद लिया। फरीदा जी के परिवार के मुताबिक, पिकनिक मनाने के लिए यह सबसे शानदार जगह है। पिकनिक की योजना के बारे में पूछे जाने पर फरीदा जी ने कहा, ‘लॉकडाउन के बाद यहां वापस आकर अच्छा लग रहा है। ऐसा लगता है कि हमें सांस लेने के लिए ताजी हवा और बच्चों को खेलने के लिए खाली जगह मिली है। परिवार के सदस्यों ने कुछ समय साथ बिताया।’ स्वीडन का एक नागरिक अपने साथियों के साथ दौड़ लगाने में व्यस्त था। वह शनिवार रात ही किसी काम के सिलसिले में नयी दिल्ली आया था।

Also read:  ऑपरेशन गंगा: युक्रेन से 182 भारतीयों को लेकर मुंबई पहुंची 7 वीं फ्लाइट

स्वीडन के नागरिक ने कहा, ‘मैं शनिवार रात दिल्ली पहुंचा और रविवार को मैं शहर के एक प्रतिष्ठित पर्यटन स्थल पर हूं। अच्छा लग रहा है। यह पहली बार है, जब मैं यहां आया हूं। जब तक मैं यहां हूं, तब तक मैं सुबह की सैर के लिए इंडिया गेट आता रहूंगा।’ कर्तव्य पथ पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था, यह सुनिश्चित करने के लिए कि जनता उस सड़क को पार न करे, जहां नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा स्थापित की गई है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘शनिवार से बड़ी संख्या में लोग इंडिया गेट का दौरा कर रहे हैं। इसलिए, हमारे पास जनता की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए यहां बड़ी संख्या में कर्मी तैनात हैं। हम नियमित रूप से घोषणा भी कर रहे हैं कि लोग सड़क पार न करें। वे दूसरे छोर पर जाने के लिए अंडरपास का इस्तेमाल करें।’

Also read:  अनिल पराग के ठिकानों पर ईडी की छापेमारी, अनिल परब उद्धव ठाकरे के बेहद करीबी नेताओं में से एक माने जाते