English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-07-16 104659

लुधियाना के सिविल अस्पातल (Ludhiana Civil Hospital) से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां 15 हमलावरों के एक समूह ने गुरुवार देर रात इमरजेंसी वार्ड के भीतर घुस एक 15 वर्षीय नाबालिग पर धारदार हथियारों से हमला किया, जिससे उसकी मौत हो गई।

एफआईआर के मुताबिक़ घटना डॉक्टरों, नर्सों और मरीजों की मौजूदगी में हुई जब हमलावरों के समूह ने हाथों में तलवार और कुल्हाड़ी लेकर युवक पर हमला कर दिया। जब युवक ने अपनी जान बचाने की कोशिश की तो उन्होंने अस्पताल के शीशे और दरवाजे भी तोड़ दिए। हैरानी की बात यह है कि लुधियाना पुलिस (Ludhiana Police) द्वारा सिविल अस्पताल परिसर के अंदर एक विशेष चौकी (चौकी) स्थापित करने के बावजूद यह वारदात सामने आई।

हमलावरों ने युवक पर बोतल से हमला किया था, चेकअप के लिए पहुंचे थे अस्पताल

लुधियाना के पुलिस आयुक्त कौस्तुभ शर्मा के मुताबिक़, सहायक उप-निरीक्षक राजिंदर सिंह के नेतृत्व में तीन पुलिसकर्मी सिविल अस्पताल पुलिस चौकी पर तैनात हैं, लेकिन कल रात कोई भी ड्यूटी पर मौजूद नहीं पाया गया। सीपी शर्मा ने कहा, “एक जांच को चिह्नित कर लिया गया है और उसके मुताबिक़ कार्रवाई की जाएगी।” पीड़ित की पहचान लुधियाना की ईडब्ल्यूएस कॉलोनी के 15 वर्षीय सावन कुमार और कक्षा 9 के छात्र के रूप में हुई, जो अपने बड़े भाई सुमित और बहनोई राजवीर के साथ रात करीब 11.25 बजे अस्पताल के इरजेंसी वार्ड में पहुंचे थे। पुलिस ने बताया कि ईडब्ल्यूएस कॉलोनी के युवकों के दो गुट कई दिनों से आमने-सामने थे और पहले भी छोटी-छोटी झड़पें हुई थीं।

Also read:  भारत ने दिया दोनों देशों के बीच सामंजस्‍य बनाने पर जोर, यूक्रेन को मानवीय मदद भेजेगा भारत, यूएन में वोटिंग से अनुपस्थित रहकर दिए तटस्‍थ रहने के संकेत

गुरुवार को भी दूसरे गुट ने सुमित के सिर में कांच की बोतल से हमला किया था, जिसके बाद वो सावन और राजवीर के साथ चेकअप के लिए अस्पताल पहुंचा था। राजवीर ने पुलिस को दिए अपने बयान में कहा कि वो और सुमित इमरजेंसी वार्ड के अंदर गए थे, और सावन बाहर इंतजार कर रहे थे। जल्द ही, दूसरे समूह के कम से कम 15 लोग बाइक पर अस्पताल पहुंचे और सावन को घेर लिया। राजवीर ने अपने बयान में कहा, उन्होंने (हमलावर) तलवार, कुल्हाड़ी और अन्य धारदार हथियारों से उस पर हमला करना शुरू कर दिया। वो खुद को बचाने के लिए वार्ड के अंदर भागा और दरवाजा बंद करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने कांच की खिड़कियां और दरवाजे तोड़ दिए और अंदर घुस गए।”

Also read:  श्रीनगर हाईवे पर बड़ा हादसा, जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर निर्माणाधीन चार लेन की सुरंग का एक हिस्सा गिरा, मलबे में कई लोग दबे

सात की पहचान और आठ अज्ञात हमलावरों के ख़िलाफ़ हत्या का केस

वार्ड में इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर गुरमेहर कौर के मुताबिक़, युवकों के एक समूह ने सावन को बुरी तरह पीटा और फिर उन्हें एम्बुलेंस में क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (सीएमसीएच) ले जाया गया, लेकिन वहां पहुंचने पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। थाने के एसएचओ इंस्पेक्टर नरदेव सिंह ने बताया कि सात की पहचान और आठ अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज की किया गया है। जिन लोगों के नाम एफआईआर में शामिल किए गए हैं, उनमें विशाल, साहिल, अभिषेक, अंकुर, मनु, साहिल उर्फ ​​सोरपी, विकास सभी ईडब्ल्यूएस कॉलोनी से हैं। छोटी-छोटी बातों को लेकर मृतक और उसके भाई से उनकी रंजिश चल रही थी और पहले भी छोटी-छोटी बातों को लेकर उनका झगड़ा होता था। ये सभी 17 से 22 साल के युवा हैं। हमने अभी तक उन्हें गिरफ्तार नहीं किया है। पुलिस ने बताया, “अस्पताल से किसी ने हमें हमले के बारे में सतर्क नहीं किया।”

Also read:  झारखंड में नहीं मिला बच्ची को आयुष्मान योजना का लाभ, अधिकारी खुद अस्पताल पहुंचे आधार बनवाने