English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-18 103402

पंजाब चुनाव (Punjab Elections 2022) को लेकर सियासी गलियारों में आरोप-प्रत्यारोप जोर शोर से जारी है।

 

पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने आम आदमी पार्टी के संयोजन और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने तीखा हमला किया है। चन्नी ने पीएम मोदी से गुहार लगाई है कि, अरविंद केजरीवाल के खिलाफ कवि कुमार विश्वास ने जो आरोप लगाए थे उसकी जांच कराई जाए।

क्या था कुमार विश्वास का आरोप

उल्लेखनीय है कि कवि कुमार विश्वास ने साल 2017 में दिल्ली के सीएम और आप आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजन अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाते हुए कहा था कि, केजरीवाल विधानसभा चुनावों के दौरान पंजाब का सीएम बनने के लिए प्रदेश में अलगाववादी तत्वों का समर्थन लेने के लिए तैयार थे। उन्होंने स्वतंत्र पंजाब का जिक्र किया था।

Also read:  गुरनाम चटूनी ने बनाई संयुक्त संघर्ष पार्टी, किसान आंदोलन में रहा अहम रोल

आम ने किया पलटवार

पंजाब के अबोहर में जनसभा के दौरान पीएम मोदी ने भी बिना नाम लिए कहा कि एक शख्स अलग ‘खालिस्तान’ बनाने का विचार कर रहे थे। वहीं, आरोपों से घिरने के बाद आम आदमी पार्टी ने पलटवार किया है। आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा ने कहा है कि साजिश के तहत अन्य राजनीतिक दल AAP पर आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि, 2017 में अलगाव ताकतों को अगर केजरीवाल बढ़ावा दे रहे थे तो उस समय से अभी तक कुमार विश्वास चुप क्यों हैं।

Also read:  इंतजार खत्म : भारत में एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को अगले हफ्ते तक इस्तेमाल की मंजूरी संभव

गौरतलब है कि पंजाब की सियासी समीन पर जमकर आरोप प्रत्यारोप लग रहे हैं। गुरूवार को पीएम मोदी ने पंजाब के अबोहर में एक रैली के दौरान पीएम मोदी ने पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के ‘यूपी, बिहार और दिल्ली वाले भइया’ बयान पर कड़ी आपत्ति जतायी। उन्होंने कहा कि इस तरह की ‘विभाजनकारी सोच’ वाले लोगों को पंजाब में शासन करने का कोई हक नहीं है। कांग्रेस ने हमेशा ही अपने फायदे के लिए एक क्षेत्र के लोगों को दूसरे क्षेत्र के लोगों से लड़वाया है। उन्होंने कहा कि पंजाब के सीएम का बयान और उनके बगल में खड़ी नेता (प्रियंका) के ताली बजाने को पूरे देश ने देखा।

Also read:  सीएम योगी एक्शन मोड़ में, गाजियाबाद के SSP को किया निलंबित

इन सबके बीच गुरूवार को पूर्व प्रधानमंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता मनमोहन सिंह ने एक वीडियो संदेश के जरिये केंद्र सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री के तौर पर 10 साल काम किया और हमेशा इस बात को प्राथमिकता दी कि उनका काम ही खुद बोले। हमने राजनीतिक लाभ के लिए कभी देश को नहीं बांटा। हमने सच पर पर्दा डालने की कभी कोशिश नहीं की। हमने देश की प्रतिष्ठा कभी कम नहीं होने दी। उन्होंने कहा कि भाजपा का राष्ट्रवाद नकली है। वह ब्रितानी नीति ‘फूट डालो और राज करो’ पर आधारित है।