English മലയാളം

Blog

Screenshot 2021-12-26 122107

भारत में  3 जनवरी 2022 से 15 से 18 साल के किशोरों के लिए देश में वैक्सीनेशन की शुरुआत होने जा रही है। इसके अलावा पीएम मोदी ने फ्रंट लाइन वर्कर्स को भी बूस्टर डोज लगाने का एलान किया है। 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को 11वीं बार राष्ट्र के नाम संदेश में ओमिक्रॉन के खतरे से आगाह किया। उन्होंने कहा कि आप सभी 2022 के स्वागत की तैयारी में जुटे हैं, लेकिन उत्साह और उमंग के साथ ही ये समय सतर्क रहने का भी है। इस दौरान उन्होंने नए साल पर बच्चों को वैक्सीन की खुशखबरी सुनाई । सोमवार 3 जनवरी 2022 से 15 से 18 साल के किशोरों के लिए देश में वैक्सीनेशन की शुरुआत होने जा रही है।

Also read:  लद्दाख में LAC पर भारतीय सीमा में पकड़े गए चीनी सैनिक को लौटाया गया

पीएम मोदी के एलान के बाद कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने इसपर प्रसन्नता जाहिर की। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने खुशी जताई और कहा कि वह पहले से इसकी मांग कर रहे थे। सिर्फ केजरीवाल ही नहीं, बल्कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भी कहना है कि उन्होंने कई दफा पत्र लिखकर प्रधानमंत्री से इस संबंध में मांग की थी। इसके अलावा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी बूस्टर डोज की मांग की अपील की थी।  वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने खुशी जताई ।

Also read:  केरल में आवारा कुत्तों का फिर बढ़ा आतंक, 12 साल की बच्ची समेत 7 लोगों को किया घायल

 

केजरीवाल ने बूस्टर डोज की मांग की 
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं को कोविड वैक्सीन की बूस्टर खुराक देने की घोषणा पर खुशी व्यक्त की, और कहा कि यह सभी को दिया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि यह जानकर प्रसन्नता हुई कि अब 15-18 वर्ष की आयु के बच्चों को भी कोविड-19 का टीका मिलेगा। इस सप्ताह की शुरुआत में, केजरीवाल ने केंद्र से आग्रह किया था कि वे पहले से ही टीकाकृत लोगों को बूस्टर खुराक देने की अनुमति दें और कहा कि दिल्ली सरकार के पास ऐसा करने के लिए पर्याप्त व्यवस्था है।

Also read:  होली के दिन दिल्ली मेट्रो के समय में बदलाव, जानें मेट्रो का समय