English മലയാളം

Blog

pm-modiii

सूत्रों के मुताबिक, केंद्र सरकार के मंत्री यूक्रेन के पड़ोसी मुल्क रोमानिया, हंगरी, पोलैंड जाएंगे, इनको वहां भेजने का फैसला इसल‍िए ल‍िया गया है, ताकि वहां भारतीयों और भारतीय छात्रों को हो रही दिक्कतों को ऑन स्पॉट दूर किया जा सके।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने यूक्रेन मसले पर उच्च स्तरीय बैठक (High Level Meeting) बुलाई है। सूत्रों के मुताबिक, केंद्र सरकार के मंत्री यूक्रेन (Ukraine) के पड़ोसी मुल्क रोमानिया, हंगरी, पोलैंड जाएंगे, जहां से भारतीय छात्रों को निकाला जा रहा है। ज‍िन मंत्रियों को वहां भेजा जा रहा है, उसमें कानून मंत्री किरण रिजिजू, हरदीप पुरी, नागरिक उड्डयन मंत्री ज्‍योतिरा‍द‍ित्‍य स‍िंध‍िया और जनरल वीके सिंह का नाम शामिल है। ये मंत्री भारत के विशेष दूत के रूप में जा रहे हैं। इनको वहां भेजने का फैसला इसल‍िए ल‍िया गया है, ताकि वहां भारतीय नागर‍िकों को हो रही दिक्कतों को ऑन स्पॉट दूर किया जा सके। मीटिंग के दौरान जमीनी हालात की समीक्षा भी की गई।

Also read:  केंद्रीय ऊर्जा मंत्री ने कोयला संकट के लिए राज्‍यों को ठहराया जिम्‍मेदार, कहा -राज्यों को कई लाख टन कोयला आवंटित किया...

बैठक में पीएम मोदी के अलावा विदेश मंत्री एस जयशंकर (S. Jaishankar), विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। मामले से जुड़े सूत्रों ने बताया कि पीएम की बैठक 2 घंटे से ज्‍यादा समय तक चली। बैठक में पीएम ने कहा कि हमारे छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करना और उन्हें यूक्रेन से निकालना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसके अलावा निकासी में तेजी लाने के लिए यूक्रेन के पड़ोसी देशों के साथ सहयोग बढ़ाने पर चर्चा की गई।

Also read:  कैप्टन की दिल्ली में अमित शाह और जेपी नड्डा से मुलाकात

कुछ द‍िन पहले पुतिन से हुई थी पीएम मोदी की बातचीत

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के मद्देनजर पैदा हुई वैश्विक स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से पिछले दिनों बात की थी और हिंसा रोकने और वार्ता आरंभ करने की अपील की थी। इससे पहले गुरुवार को भी प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति की बैठक हुई थी। इसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित अन्य कई मंत्री शामिल हुए थे।

Also read:  कोरोना केस में आई गिरावट, रविवार को 9% केस आए कम

अब तक हो चुकी 1100 से ज्यादा भारतीयों की सुरक्षित वतन वापसी

पीएम मोदी ने यूक्रेन में जारी संघर्ष की वजह से जान व माल को हुए नुकसान पर गहरी पीड़ा व्यक्त की। उन्होंने भारतीय नागरिकों को जल्द और सुरक्षित निकालने के लिए यूक्रेन के अधिकारियों से उपयुक्त कदम उठाने का भी अनुरोध किया। बता दें कि यूक्रेन की राजधानी कीव से अब तक 1100 से ज्यादा भारतीयों की सुरक्षित वतन वापसी हो चुकी है. हालांकि अभी-भी बड़ी संख्या में नागरिक वहां फंसे हुए हैं।