English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-20 110521

पीएम मोदी कल भी एक बेविनार को संबोधित करेंगे। पीएम ‘हर घर जल’ के तहत केंद्रीय बजट 2022 के पानी और स्वच्छता पर सकारात्मक प्रभाव पर वेबिनार को संबोधित करेंगे।

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज केंद्रीय बजट 2022 के क्रियान्वयन को लेकर एक बेविनार को संबोधित करेंगे। ग्रामीण विकास मंत्रालय की तरफ से जारी प्रेस रिलीज में बताया गया कि कार्यक्रम का थीम ‘लीविंग नो सिटीजन बिहाइंड’ होगा। इसका मकसद बजट के सकारात्मक प्रभाव पर विचार-विमर्श करने और सामूहिक रूप से कार्य करने योग्य रणनीतियों की पहचान करने के लिए उद्योग जगत के नेताओं, नीति-निर्माताओं और सरकारी अधिकारियों को एक साथ लाना है। सभी के उत्थान के लक्ष्य को आगे बढ़ाने की दिशा में, प्रत्येक घर और गांव का विकास, किसी को भी पीछे नहीं छोड़ना।

Also read:  Ayodhya Ram Mandir: राष्ट्रपति कोविंद ने दिया पहला चंदा, सौंपा पांच लाख 100 रुपये का चेक

 

प्रेस रिलीज में आगे बताया गया, ‘वेबिनार के दौरान सभी हितधारकों की भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए, हर घर में आवास, पीने योग्य पानी और एलपीजी, सड़क और सूचना-मार्ग कनेक्टिविटी प्रदान करने, एंड-टू-एंड डिजिटलीकरण के माध्यम से भूमि शासन के विषयों पर सत्र आयोजित किए जाएंगे। दूरदराज और पिछड़े क्षेत्रों में विकास योजनाओं की संतृप्ति और आजीविका के विकल्प और सभी के लिए वित्तीय सेवाओं तक पहुंच, विशेष रूप से ग्रामीण महिलाओं के लिए।’

Also read:  दिल्ली में फिर कहर बरपा रहा है कोरोना, केजरीवाल ने दिवाली बाद कई कदम उठाने के दिए संकेत

ग्रामीण विकास मंत्रालय (MoRD), पंचायती राज मंत्रालय (MoPR), आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA), पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय (MoPNG), इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeITY) पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय (MoDONER), पेयजल और स्वच्छता विभाग (DDWS), सीमा प्रबंधन विभाग (DoBM), डाक विभाग (DoP), दूरसंचार विभाग और भूमि संसाधन विभाग (DoLR) समेत 10 मंत्रालय और विभाग इसमें शामिल होंगे। सरकारी अधिकारियों के अलावा, उद्योग विशेषज्ञ और विभिन्न सरकारी निकायों के प्रतिनिधि भी भाग लेंगे।

Also read:  श्रीनगर हाईवे पर बड़ा हादसा, जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर निर्माणाधीन चार लेन की सुरंग का एक हिस्सा गिरा, मलबे में कई लोग दबे

मंत्रालय ने ये भी बताया कि इस वेबिनार के निष्कर्षों को विभिन्न मंत्रालयों के सामने प्रस्तुत किया जाएगा ताकि वे इन कार्यक्रमों के बेहतर क्रियान्वयन के लिए अपनी रणनीति में बदलाव कर सकें।