English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-24 175212

पंजाब के मोहाली के न्यू चंडीगढ़ में होमी भाभा कैंसर अस्पताल एंड रिसर्च सेंटर के उद्घाटन के दौरान जब मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बोलना शुरू किया तभी भीड़ ने जोर-जोर से मोदी-मोदी के नारे लगाने शुरू कर दिए। 

 

भगवंत मान के भाषण के दौरान दो से तीन बार वहां मौजूद लोगों ने मोदी-मोदी के जोरदार नारे लगाए। अपने भाषण के दौरान भगवंत मान ने प्रधानमंत्री से अपील की और उन्हें याद दिलाया कि नीति आयोग की बैठक के दौरान पंजाब के लिए वो काफी कुछ केंद्र से मांग कर आए हैं।

Also read:  राष्ट्रपति चुनाव के लिए साझा उम्मीदवार उतार सकता है विपक्ष, मल्लिकार्जुन खड़गे ने किया कुछ विपक्षी दलों से संपर्क

भगवंत मान ने कहा, ‘उन्हें उम्मीद है कि आज प्रधानमंत्री काफी दिनों बाद पंजाब आए हैं और आज पंजाब के लिए बड़े ऐलान करेंगे और तोहफे देकर जाएंगे।’ लेकिन प्रधानमंत्री ने अपने भाषण के दौरान ऐसा कोई भी ऐलान नहीं किया। जहां एक और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने लोकल लेवल पर स्वास्थ्य सेवाएं बढ़ाने के लिए मोहल्ला क्लीनिक जैसी सुविधाएं देने की बात अपने भाषण में कहीं तो वही प्रधानमंत्री ने उसके उलट अति आधुनिक इलाज मुहैया कराने वाले अस्पताल और मेडिकल कॉलेज हर जिले में खोले जाने का टारगेट आने वाले सालों में तय करने का आह्वान किया।

पीएम के काफिले के रोके जाने पर जताया खेद

सीएम भगवंत मान ने 5 जनवरी को पंजाब के फिरोजपुर में पीएम के काफिले को रोके जाने के मामले पर खेद प्रकट किया और कहा कि अब पंजाब में वो सरकार है जो ये मानती है कि पीएम हमारे देश का सम्मान हैं और उनका पंजाब में स्वागत है और ऐसी घटना फिर कभी नहीं होगी, क्योंकि पंजाब अपनी मेहमान-नवाजी के लिए जाना जाता है।

Also read:  भारतीय वैज्ञानिकों को दुनिया के शीर्ष वैज्ञानिक स्टैंडफोर्ड में चित्रित किया गया

जानें क्या हैं अस्पताल की खासियत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जिस होमी भाभा कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र का उद्घाटन किया, उसकी बात करें तो इस अस्पताल का 660 करोड़ रुपये की लागत से टाटा मेमोरियल सेंटर ने निर्माण किया है, जो भारत सरकार के परमाणु ऊर्जा विभाग के तहत सहायता-प्राप्त संस्थान है। यह कैंसर अस्पताल तृतीयक स्तर का अस्पताल है, जिसकी 300 बिस्तरों की क्षमता है। अस्पताल कैंसर के सभी प्रकारों के उपचार के लिए हर आधुनिक सुविधाओं से लैस है। यहां सर्जरी, रेडियोथेरेपी और मेडिकल ऑन्कोलॉजी कीमोथेरेपी, इम्यूनोथेरेपी और बोन मैरो ट्रांसप्लांट की सुविधा उपलब्ध होगी। यह अस्पताल पूरे क्षेत्र में कैंसर सुविधा और इलाज के लिए ‘केंद्र’ के रूप में और संगरूर में 100 बिस्तरों वाला अस्पताल इसकी ‘शाखा’ के रूप में कार्य करेगा।

Also read:  उत्तराखंड कांग्रेस में भी एक परिवार-एक टिकट नियम होगा लागू , कांग्रेस के बड़े नेताओं को झटका