English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-16 104623

 देश की सबसे बड़ी स्‍वास्‍थ्‍य योजना ‘प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य बीमा योजना’ (PMJAY) का लाभ 10 करोड़ परिवारों को मिलने वाला है। जानिए क्या है ये योजना?

Pradhan Mantri Jan Arogya Bima Yojana: देश की सबसे बड़ी स्‍वास्‍थ्‍य योजना ‘प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य बीमा योजना’ (Pradhan Mantri Jan Arogya Bima Yojana) की शुरुआत पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने की थी।

इस योजना की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि इससे देश की उतने लोगों को लाभ मिलेगा जितनी जनसंख्‍या पूरे यूरोपियन यूनियन की है। आपको बता दें कि राज्य इस योजना से जुड़े हुए हैं, उनमें रहने वाला व्यक्ति चाहे किसी भी राज्य में जाएं, उन्हें इस योजना का लाभ मिलता हमेशा रहेगा।

Also read:  चुनाव आयोग ने उपचुनाव की तारीख का किया ऐलान, 23 जून को होगें लोकसभा-विधानसभा के उपचुनाव

जानिए प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना की खासियत

इस योजना का लाभ देश के 10 करोड़ परिवारों को मिलने वाला है। योजना के तहत लाभार्थी देश के सरकारी (Government Hospital) और प्राइवेट अस्‍पतालों (Private Hospital) में अपना इलाज करवा पाएंगे। साथ ही बता दें कि सभी राज्‍यों के सरकारी अस्‍पताल इस योजना में शामिल रहेंगे और इसके अलावा प्राइवेट और ESI अस्‍पतालों में भी लाभार्थी इस योजना के तहत अपना इलाज करवा सकते हैं। वहीं लाभार्थियों का अस्‍पताल का खर्चा बीमा कंपनी से करवाने तक का काम आयुष्‍मान मित्र देखेंगे। इसमें बीमा कवर के लिए उम्र बाध्यता नहीं है। हर उम्र का व्‍यक्ति इस योजना के तहत अपना इलाज करवा सकता है। साथ ही इसमें अगर किसी को पहले से कोई बीमारी है वो भी कवर हो जाएगी। बता दें कि ये स्‍कीम पूरी तरह कैशलेश है।

Also read:  पंजाब में 7 जुन से बहाल किया जाएगा वीवीआईपी के लिए सुरक्षा कवर, मूसेवाला की हत्या से एक दिन पहले की गई थी सुरक्षा में कटौती

ये है योजना की खास बातें :

अभी तक 5 लाख रुपये का हेल्‍थ इंश्‍योरेंस देने वाली ये देश की सबसे बड़ी योजना है।

इस योजना की फंडिंग केंद्र और राज्‍य सरकार मिलकर करेंगे।

इसका लाभ 10 करोड़ से ज्‍यादा परिवारों को मिलेगा।

इस योजना में अभी तक देशभर के 13,000 से अधिक अस्पताल जुड़ चुके हैं।

5 लाख तक का जो खर्च है उसमें अस्पताल में भर्ती होने के अलावा जरुरी जांच, दवाई, भर्ती से पहले का खर्च और इलाज पूरा होने तक का खर्च भी शामिल है।

Also read:  COVID-19 स्थिति पर चर्चा करने के लिए पीएम शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता करेंगे

30 राज्‍य 443 जिलों को इस योजना की सुविधा मिली है।

86% ग्रामीण परिवारों का कोई हेल्‍थ इंश्‍योरेंस नहीं।

प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना या आयुष्‍मान भारत योजना का लाभ उठाने के लिए आधार कार्ड जरूरी नहीं।

आधार कार्ड वोटर आईडी कार्ड या राशन कार्ड दे सकते हैं।

बीमा योजना से जुड़े सभी अस्‍पतालों में एक आयुष्‍मान मित्र लोगों की मदद के लिए होगा।

महंगे इलाज के कारण गरीबी से बाहर नहीं निकल पाती जनता।

प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना के लाभार्थियों की सूची में ऐसे ढूंढे अपना नाम