English മലയാളം

Blog

पटना: 

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections 2020) से संबंधित अधिकतर एग्जिट पोल में RJD की अगुवाई वाले महागठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिलने के अनुमान पर संदेह प्रकट करते हुए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) ने कहा कि इस तरह के सर्वेक्षण अक्सर उन बड़ी तादात के मतदाताओं की राय नहीं ले पाते, जो खामोश होते हैं. दूसरी तरफ, RJD और कांग्रेस के नेताओं ने एग्जिट पोल के अनुमान पर खुशी जताई तो लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) ने इस बात पर जोर दिया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के खिलाफ उनका रुख सही साबित हुआ है.

Also read:  मैदान में बारिश ने फिर बढ़ाई ठंड, येलो अलर्ट जारी, कई राज्यों में बरसेंगे बादल

JDU की बिहार इकाई के अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा, ‘‘बिहार के संदर्भ में एग्जिट पोल हमेशा गलत साबित हुए हैं. 2015 में इन्हीं एग्जिट पोल में उस वक्त के हमारे विरोधियों को आगे दिखाया गया था, लेकिन हमारे गठबंधन ने दो-तिहाई बहुमत हासिल किया.” उन्होंने कहा, ‘‘हमें विश्वास है कि 10 नवंबर के नतीजे इन एग्जिट पोल से अलग होंगे.

भाजपा नेता मनोज तिवारी ने कहा, ‘‘बिहार की जनता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता को लेकर कोई संदेह नहीं है. बहरहाल, पार्टी ने कहा था कि नीतीश कुमार ही प्रदेश का नेतृत्व करने के लिए लोकप्रिय विकल्प हैं. हम आशा करते हैं कि नतीजे इन एग्जिट पोल से अलग होंगे.” कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने दिल्ली में संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमें पूरा विश्वास है कि बिहार ने बदलाव के लिए वोट किया है.”

Also read:  बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने चिराग पासवान पर साधा निशाना,बोले कुछ लोग NDA में सेंध लगाना चाहते हैं

उन्होंने कहा कि बिहार एक ऐसी सरकार चाहता है जो युवाओं को रोजगार, किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रदान करे तथा शिक्षा एवं स्वास्थ्य सेवा सुनिश्चित करे. RJD प्रवक्ता मनोज झा ने एक चैनल के एक्जिट पोल के अनुमान को ट्विटर पर साझा करते हुए कहा, ‘‘निश्चित तौर पर शानदार.” गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव से संबंधित शनिवार को आए कई एग्जिट पोल के अनुसार RJD नीत विपक्षी महागठबंधन को सत्तारूढ़ NDA पर बढ़त मिलती दिख रही है. कम से कम तीन एग्जिट पोल में महागठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिलने का अनुमान लगाया गया है.

Also read:  बिहार में 94 सीटों के लिए मतदान, दस राज्यों में उपचुनाव