English മലയാളം

Blog

पटना : Bihar Election 2020 Voting Phase 2: आक्रामक चुनाव प्रचार अभियान के बीच, बिहार की 243 विधानसभा सीटों में से 94 सीटों पर आज यानी मंगलवार को दूसरे चरण में चुनाव है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने दूसरे चरण के प्रचार अभियान के तहत, विरोधी दलों खासकर राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. पीएम मोदी ने एनडीए सरकार के मौजूदा कार्यकाल की तुलना लालू-राबड़ी के कार्यकाल से की. लालू-राबड़ी के कार्यकाल को ‘जंगलराज’ करार दिया. बिहार चुनाव के अलावा, दस राज्यों की 54 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए भी मंगलवार को मतदान होना है. इनमें मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटें भी शामिल हैं, जहां अपनी सरकार बचाने के लिए भाजपा का कांग्रेस के साथ मुकाबला है.

1. बिहार में दूसरे चरण का मतदान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए आक्रामक चुनाव प्रचार के बीच हो रहा है. सीएम पद के लिए नीतीश कुमार (Nitish Kumar) एनडीए के आधिकारिक उम्मीदवार हैं. पीएम मोदी राज्य में अब तक 10 रैलियां कर चुके हैं और दो रैलियां होनी अभी बाकी हैं.

2.वैशाली की राघोपुर सीट से किस्मत अजमा रहे तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) का मुकाबला बीजेपी के सतीश कुमार से है. 2015 में इसी सीट पर तेजस्वी ने सतीश कुमार को मात दी थी. बीजेपी नेता सतीश कुमार ने इसी सीट पर 2010 में राबड़ी देवी का हराया था. बीजेपी ने एक बार फिर उन पर भरोसा जताया है.

Also read:  महागठबंधन का घोषणा पत्र जारी: युवाओं को परीक्षा शुल्क से मुक्ति, मनरेगा में 200 दिन काम का वादा

3.  इस चरण में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता और महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी तेजस्वी यादव, उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव (Tej pratap Yadav) के अलावा बिहार की एनडीए सरकार के चार मंत्रियों के भाग्य का फैसला भी होगा. इनमें दो मंत्री बीजेपी (BJP) के और दो जेडीयू (JDU) के हैं.

4.चुनाव आयोग (Election Commission) ने कोविड-19 से बचाव के लिए निर्धारित मापदंडों के पालन के साथ निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं.

5. बिहार के दूसरे चरण के मतदान के अलावा, दस राज्यों की 54 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए भी मंगलवार को मतदान हो रहा है. इनमें मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटें भी शामिल हैं, जहां अपनी सरकार बचाने के लिए भाजपा का कांग्रेस के साथ मुकाबला है.

Also read:  बिहार में चुनावी रैली में बोले PM नरेंद्र मोदी, अगर नीतीश सरकार ने त्वरित कार्रवाई नहीं की होती, तो COVID-19 ने कहीं ज़्यादा जानें ली होतीं

6.कोविड-19 महामारी के कारण उपचुनावों के लिए व्यापक प्रबंध किये गये हैं. इन प्रबंधों में चुनाव कर्मियों के लिए निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई), अधिक मतदान केन्द्र, थर्मल स्क्रीनिंग, सैनिटाइजर, मतदाताओं के लिए मास्क और दस्ताने और सामाजिक दूरी सुनिश्चित करना शामिल है.

7.छत्तीसगढ़, झारखंड और नगालैंड को छोड़कर, जहां समय अलग है, अन्य राज्यों में मतदान सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक चलेगा. जो मतदाता कोविड-19 से संक्रमित हैं, उन्हें अंतिम घंटों में अलग से मतदान करने की अनुमति दी जायेगी. छत्तीसगढ़ की एक सीट, हरियाणा की एक, झारखंड की दो, कर्नाटक की दो, नगालैंड की दो, ओडिशा की दो और तेलंगाना की एक विधानसभा सीट के लिए भी उपचुनाव होगा.

8. मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के परिणाम प्रदेश में किसी भी दल की सरकार बनाने में अहम साबित हो सकते हैं. प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के उपचुनाव में राज्य के 12 मंत्रियों सहित कुल 355 उम्मीदवार मैदान में हैं.

9.वहीं, उत्‍तर प्रदेश विधानसभा की सात सीटों पर उप चुनाव के लिए मंगलवार को होने जा रहे मतदान में निर्दलीय समेत कुल 88 उम्‍मीदवारों की किस्‍मत का फैसला मतदाताओं के हाथ में होगा. निर्वाचन आयोग ने निर्बाध तरीके से चुनाव संपन्‍न कराने की तैयारी पूरी कर ली है. जिन सात सीटों पर तीन नवंबर को मतदान होना है उनमें से छह सीटें पहले सत्‍तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पास थीं और एक सीट समाजवादी पार्टी (सपा) के पास थी.

Also read:  एनडीए की बैठक रविवार को दोपहर 12:30 बजे , चुनेंगे अपना नेता : नीतीश कुमार

10. गुजरात में आठ विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान कराया जा रहा है और इस दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिये ​विभिन्न कदम उठाये गए हैं. प्रदेश की जिन आठ सीटों पर उप चुनाव कराये जा रहे हैं ​उनमें अब्डासा (कच्छ), लिम्बडी (सुरेंद्र नगर), मोरबी (मोरबी), धारी (अमरेली), गढ़दा (बोटाड), करजन (वडोदरा), डांग (डांग) और कपराडा (वलसाड) शामिल है. इन सीटों पर उप चुनाव कराने की आवश्यकता इसलिये हुयी, क्योंकि इस साल जून में राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के मौजूदा विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था