English മലയാളം

Blog

जेनेवा, स्विट्जरलैंड: 

ब्रिटेन में कोरोना वायरस (Coronavirus) का नया वेरिएंट (New Coronavirus Strain) तेजी से फैल रहा है. इसे काबू करने के लिए ब्रिटेन में लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की गई है. वायरस के नए प्रकार के सामने आने के बाद कई देशों की चिंता बढ़ गई है. इस बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा कि ब्रिटेन में पाया गया कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन अभी नियंत्रण से बाहर नहीं है और मौजूदा उपायों के जरिए इस पर काबू पाया जा सकता है. वायरस के नए स्ट्रेन के फैलने की दर (Transmission Rate) काफी अधिक है.

Also read:  कोरोना की जांच के लिए आखिरकार माना चीन, 14 जनवरी को डब्ल्यूएचओ की टीम करेगी दौरा

डब्ल्यूएचओ के आपातकाल विभाग के प्रमुख माइकल रेयान ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया, “कोरोना महामारी के दौरान हमने कई जगहों पर इससे भी ज्यादा संक्रमण दर देखी है और हमने इस पर नियंत्रण भी रखा.” उन्होंने कहा, “इस लिहाज से यह स्थिति नियंत्रण से बाहर नहीं है, लेकिन इसे ऐसे ही छोड़ा नहीं जा सकता है.”

Also read:  दिल्ली-NCR समेत पूरे उत्तर भारत में शीतलहर, ठिठुरन की मार, घने कोहरे ने थामी 14 ट्रेनों की रफ्तार

इससे पहले, ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने दावा किया था कि वायरस का नया वेरिएंट नियंत्रण से बाहर है. ब्रिटिश अधिकारियों का कहना है कि वायरस का नया स्ट्रेन COVID के मुख्य स्ट्रेन की तुलना में 70 प्रतिशत तेजी से फैलता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अधिकारी रेयान ने कहा, “मौजूदा वक्त में हम जो उपाय कर रहे हैं वो सही उपाय हैं.”उन्होंने कहा, “हमें वही करने की आवश्यकता है जो हम कर रहे हैं, हमें बस इसमें थोड़ी तेजी लाने और थोड़ा लंबे समय तक उपाय करने की जरूरत है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि हम इस वायरस को नियंत्रण में ला सकते हैं.”

Also read:  WHO ने कहा, AstraZeneca की कोरोना वैक्सीन पर रोक लगाने की कोई वजह नहीं