English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) का आज (30 जनवरी, शनिवार) एक साल पूरा हो गया है. 30 जनवरी, 2020 को देश में संक्रमण का पहला मामला केरल में रिपोर्ट हुआ था. भारत समेत दुनियाभर के 180 से ज्यादा देशों को कोरोना ने अपनी जद में लिया है. अभी तक 10.20 करोड़ से ज्यादा लोग इस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. यह वायरस 22.06 लाख से ज्यादा संक्रमितों की जिंदगी छीन चुका है. भारत (Coronavirus India Report) में भी हर रोज COVID-19 के मामले बढ़ रहे हैं लेकिन पहले के मुकाबले इसकी रफ्तार जरूर कम हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1,07,33,131 हो गई है.

Also read:  कुछ मुद्दों पर चर्चा करने के लिए, अमेरिका के विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री अगले हफ्ते भारत से मुलाकात कर रहे हैं

देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 13,083 नए मामले सामने आए हैं. पिछले 24 घंटों में 14,808 मरीज ठीक हुए हैं. इस दौरान 137 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है. अब तक कुल 1,04,09,160 मरीज ठीक हो चुके हैं. 1,54,147 लोगों की जान गई है. कोरोना के मौजूदा मामलों की संख्या दो लाख से नीचे है. इस समय देश में 1,69,824 एक्टिव केस हैं. रिकवरी रेट की बात करें तो यह मामूली बढ़ोतरी के बाद 96.98 प्रतिशत पर पहुंच गया है. यह अब तक सबसे ज्यादा है. पॉजिटिविटी रेट 1.72 फीसदी है. डेथ रेट 1.43 प्रतिशत है. 29 जनवरी को 7,56,329 कोरोना सैंपल टेस्ट किए गए. अभी तक कुल 19,58,37,408 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं.

Also read:  पीड़ित परिवार से मिलने हाथरस जा रहे TMC सांसदों को 'यूपी पुलिस ने गांव से 1.5 KM पहले रोका'

बताते चलें कि केंद्र सरकार ने राज्यों को चिट्ठी लिखकर सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि फरवरी के पहले हफ्ते से फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी कोरोना की वैक्सीन लगानी शुरू करें. अभी कोरोना के टीके सिर्फ स्वास्थ्यकर्मियों को ही लगाए जा रहे हैं. 16 जनवरी से टीका लगना शुरू हुआ था. केंद्र सरकार ने कहा था कि वैक्सीन के उपलब्धता के हिसाब से फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी टीका दिया जाएगा. फ्रंटलाइन वर्कर्स की संख्या लगभग दो करोड़ है, जिसमें पुलिस, सेना, सफाई कर्मचारी शामिल हैं. फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी स्वास्थ्यकर्मियों की ही तरह मुफ्त टीका लगाने की सरकार ने घोषणा की है.

Also read:  भारत में पिछले 24 घंटे में दर्ज हुए 29,398 नए COVID-19 केस, 414 की मौत

केंद्र ने कुल तीन करोड़ लोगों को मुफ्त टीका देने की घोषणा की है, जिसमें एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मी और दो करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स शामिल हैं. देश में अब तक 33 लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन दी जा चुकी है, जबकि इनकी संख्या 1 करोड़ है. अनुमान है कि जल्द ही स्वास्थ्यकर्मियों का वैक्सीनेशन पूरा हो जाएगा लेकिन इस बीच केंद्र सरकार ने राज्यों से सलाह के बाद उन्हें चिट्ठी लिखकर फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी टीका लगाने की बात कही है.