English മലയാളം

Blog

अपनी प्राकृतिक सुंदरता, मौसमी फूलों की घाटी और जैव विविधता के लिए मशहूर मणिपुर-नागालैंड की सीमा पर स्थित दज़ुको घाटी (Dzuko Valley) के जंगलों में भीषण आग लगी है. मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह (N Biren Singh) ने बीती रात इसका वीडियो ट्वीट करते हुए इसे बेहद दुभाग्यपूर्ण करार दिया है. आग इतनी भयानक है कि उसे नागालैंड की राजधानी कोहिमा से भी देखा जा सकता है.

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.

Also read:  देश में लगातार पांचवें दिन कोविड-19 संक्रमण के मामलों में हुई बढ़ोतरी 24 घंटे में देश में 18,711 नए मामले दर्ज हुए

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.

Also read:  केरल सोना तस्करी में हो सकता है दाऊद इब्राहिम का हाथ, आतंकी गतिविधियों में होता था पैसे का इस्तेमाल : NIA

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.

Also read:  हवा की चाल बढ़ने से दिल्ली का प्रदूषण हुआ कम, अगले दो दिन गुणवत्ता रहेगी बेहद खराबः सफर

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.