English മലയാളം

Blog

अपनी प्राकृतिक सुंदरता, मौसमी फूलों की घाटी और जैव विविधता के लिए मशहूर मणिपुर-नागालैंड की सीमा पर स्थित दज़ुको घाटी (Dzuko Valley) के जंगलों में भीषण आग लगी है. मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह (N Biren Singh) ने बीती रात इसका वीडियो ट्वीट करते हुए इसे बेहद दुभाग्यपूर्ण करार दिया है. आग इतनी भयानक है कि उसे नागालैंड की राजधानी कोहिमा से भी देखा जा सकता है.

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.

Also read:  संसद में TMC सांसद का अनोखा विरोध, गैस की कीमतों में वृद्धि पर विरोध जताते खाया कच्चा बैंगन

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.

Also read:  कोरोना का कहर : पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड करीब 29 हजार नए मामले आए, संक्रमण से मौतों की संख्या में भी हुआ इजाफा

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.

Also read:  अरविंद केजरीवाल पर स्मृति ईरानी ने निशाना साधा, कहा- केजरीवाल के नए निचले स्तर पर गिरना कोई आश्चर्य की बात नहीं

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.