English മലയാളം

Blog

अपनी प्राकृतिक सुंदरता, मौसमी फूलों की घाटी और जैव विविधता के लिए मशहूर मणिपुर-नागालैंड की सीमा पर स्थित दज़ुको घाटी (Dzuko Valley) के जंगलों में भीषण आग लगी है. मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह (N Biren Singh) ने बीती रात इसका वीडियो ट्वीट करते हुए इसे बेहद दुभाग्यपूर्ण करार दिया है. आग इतनी भयानक है कि उसे नागालैंड की राजधानी कोहिमा से भी देखा जा सकता है.

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.

Also read:  भाजपा का अखिलेश पर वार, संबित पात्रा बोले- 'जो करे जिन्ना से प्यार वह कैसे करे पाकिस्तान से इंकार'

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.

Also read:  वाराणासी में गंगा का बढ़ा जलस्तर, शवों का गलियों में किया जा रहा दहा संस्कार, पीएम मोदी ने जताई चिंता

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.

Also read:  अनुराग ठाकुर ने किया दावा, यूपी चुनाव में 300 से अधिक सीटें जीतेगी BJP

दज़ुको घाटी की गिनती “मणिपुर में सबसे सुंदर स्थानों में से एक” के रूप में होती है. अधिकारियों के मुताबिक, आग पर काबू पा लिया गया है. यह घाटी फूलों की घाटी के रूप में भी जाना जाता है. इस आग से वहां की जैव विविधता को भारी नुकसान पहुंचा है. सीएम बीरेन सिंह के मुताबिक यह आग दो-तीन दिन पहले ही लगी थी.