English മലയാളം

Blog

भोपाल: 

मध्य प्रदेश में मंगलवार सुबह सीधी से सतना जा रही बस हादसे का शिकार हो गई. बाणसागर की नहर में यात्रियों से भरी बस गिर गई. इस दुर्घटना में कुल 37 लोगों के शव निकाले जा चुके हैं. जिनमें से 16 महिलाएं, 20 पुरुष और 1 बच्चे के शव मिले हैं. रेस्क्यू ऑपरेशन अब पूरा हो चुका है. वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना पर शोक व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को 5 लाख के मुआवजे का ऐलान किया है. इस हादसे के कारण मुख्यमंत्री ने गृह प्रवेश योजना का कार्यक्रम भी स्थगित कर दिया. मुख्यमंत्री ने बयान जारी कर कहा कि आज हम बड़े उत्साह से 1लाख 10 हजार घरों में गृह प्रवेश का कार्यक्रम संपन्न करने वाले थे. लेकिन सवेरे 8:00 बजे ही मुझे यह सूचना मिली सीधी  जिले में बाणसागर की नहर में शारदा पाटन करके गांव हैं वहां यात्रियों से भरी एक बस गिर गई.

Also read:  ई-टेंडर घोटाले में मध्‍य प्रदेश के 16 स्‍थानों पर ED की छापेमारी

सीएम के अनुसार बाणसागर की नहर काफी गहरी है हमने तत्काल बांध से पानी बंद करवाया, राहत और बचाव दलों को रवाना किया कलेक्टर एसपी एसडीआरएफ की टीम वहां है हाइड्रा क्रेन सारे संसाधन पहुंचे हैं बस निकालने के प्रयास हो रहे हैं. मुख्यमंत्री के बयान के अनुसार एंबुलेंस डॉक्टर बाकी सभी व्यवस्थाएं वहां पहुंच चुकी हैं और हमारी भरसक कोशिश यह है कि हम अपने भाई बहनों को बचा पाए लेकिन ऐसी परिस्थिति में मेरा भी पूरा दिमाग शरीर, मन, बुद्धि और आत्मा उन्हीं यात्रियों में लगी हुई है इसलिए आज कार्यक्रम करना उचित नहीं होगा.

Also read:  COVID संक्रमित डोनाल्ड ट्रंप का अस्पताल में चल रहा इलाज, बोले- 'मैं ठीक हूं'

उन्होंने बताया कि तुरंत राहत और बचाव कार्य कार्य करने वाली टीम के संपर्क में सुबह 8 बजे से हूं, कुछ साथी बचाए जा चुके हैं कोशिश यह है कि अपने भाई बहनों को सुरक्षित बचा पाए. उन्होंने अपील की कि आप अपने-अपने स्थान पर भगवान से यह प्रार्थना करें कि वे सुरक्षित रहें सुरक्षित निकल आएंयआज का कार्यक्रम हम स्थगित करते हैं इसे फिर और किसी अवसर पर करेंगे.