English മലയാളം

Blog

पश्चिम बंगाल चुनाव से पहले ममता बनर्जी को एक और बड़ा झटका मिला है। तृणमूल कांग्रेस के विधायक देबाश्री रॉय ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बता दें कि पिछले कई दिनों से टीएमसी के कई सांसदों और विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दिया है। पिछले साल दिसंबर में ममता बनर्जी के करीबी माने जाने वाले सुवेंदु अधिकारी टीएमसी छोड़कर भाजपा में जुड़ गए थे।

Also read:  विदेशी ऑर्डर हासिल करने के लिए हथियारों का निर्यात बढ़ाने के लगातार प्रयास में भारत, पिनाका रॉकेट के बाद अब आर्मेनिया ने भारत से खरीदी माउंटेड आर्टिलरी गन

वहीं बीते दिनों टीएमसी के राज्यसभा सांसद और पूर्व रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया था और भाजपा में शामिल हो गए थे। दिनेश त्रिवेदी ने पार्टी से इस्तीफा देते हुए कहा था कि राज्य में हिंसा का माहौल है, जिससे उनका दम घुट रहा है। उन्होंने ये भी कहा था कि पार्टी में बोलने के लिए कोई मंच नहीं है।

Also read:  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बेरोजगारी भत्ता योजना की चौथी किश्त के रूप में 01 लाख 22 हज़ार 625 हितग्राहियों के खाते में 31.71 करोड़ रुपये किए ट्रांसक

इसके बाद दिनेश त्रिवेदी भाजपा में शामिल हो गए थे और इसे जनता के परिवार जैसी पार्टी बताया था। उन्होंने आगे कहा था कि भाजपा में पार्टी की सेवा के लिए बल्कि जनता की सेवा के लिए काम किया जाता है।

वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बांकुड़ा में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि ममता बनर्जी को हाल ही में चोट लगी है और उन्हें दर्द हो रहा है, लेकिन तृणमूल कांग्रेस शासन द्वारा हत्या किए गए भाजपा कार्यकर्ताओं के परिवारों की तकलीफ का क्या। उन्होंने कहा कि सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ताओं की टीएमसी के गुंडों ने हत्या कर दी।