English മലയാളം

Blog

कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर केंद्र सरकार ने कहा है, ‘महाराष्ट्र को लेकर बड़ी चिंता है.’ इसके साथ ही सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण को हल्के में न लेने की अपील लोगों से की है.नीति आयोग के सदस्‍य वीके पॉल ने गुरुवार को कहा कि महाराष्‍ट्र में कोरोना संक्रमण के नए मामलों में इजाफे से केंद्र सरकार बेह चिंतित है. उन्‍होंने कहा कि देश को यदि कोरोना मुक्‍त बनना है तो तो वायरस के खिलाफ तमाम ऐहतियात बरतनी होगी.एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा, ‘हम महाराष्‍ट्र के बारे में बेहद चिंतित हैं, यह बेहद गंभीर मामला है. इसके दो सबक हैं-वायरस को हल्‍के में न लें और यदि कोरोना मुक्‍त रहना है तो हमें कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा.’

Also read:  कोरोना की रफ्तार ने फिर बढ़ाई टेंशन, पंजाब के जालंधर में नाइट कर्फ्यू

महाराष्‍ट्र में कोरोना के नए मामलों में हो रहे इजाफे के बीच तमाम उपाय किए जा रहे हैं. इसके तहत नागपुर में 15 से 21 मार्च तक लॉकडाउन की घोषणा की गई है.घोषणा में कहा गया है कि सब्जियां, फ्रूट शॉप, मिल्‍क बूथ जैसी जरूरी सेवाएं लॉकडाउन के दौरान जारी रहे. महाराष्‍ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने संकेत दिया था कि राज्‍य में कोरोना के नए मामलों की संख्‍या बढ़ने के कारण राज्‍य के कई हिस्‍सों में लॉकडाउन लगाने की नौबत आ सकती है.

Also read:  Coronavirus India: पिछले 24 घंटे में सामने आए 45882 मामले, संक्रमणमुक्त मरीजों की संख्या 84 लाख के पार

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में देश में कोविड-19 के 22,854 मामले सामने आए हैं. इन नए मामलों में सबसे अधिक 13,659 मामले (देश में कुल मामलों का करीब 60 प्रतिशत) महाराष्ट्र से हैं. इसके बाद केरल (2,475) और पंजाब (1,393) से मामले सामने आए हैं. आठ राज्यों – महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पंजाब, मध्य प्रदेश, दिल्ली, गुजरात, कर्नाटक और हरियाणा में नए मामलों में वृद्धि हो रही है. भारत में इस समय कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्‍या 1,89,226 है.स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि केरल में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या लगभग आधी हुई और महाराष्ट्र में दोगुनी से अधिक हो गई है. सरकार के अनुसार, गुरुवार को अपराह्न एक बजे तक 2,56,90,545 लोगों को कोविड-19 टीके की खुराक दी गई जिनमें 67,86,086 बुजुर्ग और गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 45-60 आयु वर्ग के लोग शामिल हैं. कोविड-19 टीके की अब तक दी गई कुल खुराकों में से, 28.77 प्रतिशत निजी अस्पतालों में, 71.23 प्रतिशत सरकारी अस्पतालों में दी गई.