English മലയാളം

Blog

महाराष्ट्र में कोरोना (Corona) मरीजों की संख्या आए दिन बढ़ती जा रही है, आज वाशिम जिले (Vashim) में 318 मरीज पाए जाने से इस संख्या में और इजाफा हुआ है. उल्लेखनीय है कि एक होस्टल से 190 छात्र कोरोना पोजिटिव पाए गए. ज़िले के रिसोड तहसील के देगांव स्थित एक स्कूल के हॉस्टल में आज 190 छात्रों के पॉजिटिव पाए जाने से खलबली मच गई.

एक और जहां प्रशासन कोरोना को नियंत्रण में लाने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रहा है, वहीं पर एक ही जगह पर इतने सारे मरीजों का पॉजिटिव पाया जाना चिंता का विषय बन गया. वाशिम जिलाधिकारी एस शन्मुगराजन ने हॉस्टल की स्थिति का जायजा लिया. रिसोड़ तहसील के ग्राम देगांव स्थित निवासी आश्रम शाला में छात्र पढ़ने के अलावा हॉस्टल में रहते हैं.

Also read:  भारत की कोरोना वैक्सीन उत्पादन क्षमता दुनिया में सबसे बेहतर बोले UN महासचिव

जानकारी मिली है कि यह सभी छात्र अमरावती जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आए हुए है. ज्ञात हो कि कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत अमरावती से ही हुई है.होस्टल में कोरोना संक्रमित पाए गए 190 लोगों में चार शिक्षक हैं, बाकी छात्र हैं.

Also read:  Coronavirus India: पिछले 24 घंटे में सामने आए 12,408 नए मरीज, 120 लोगों ने गंवाई जान

बता दें कि अमरावती में एक हफ्ते का लॉकडाउन लगाया गया है. वहीं महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश की सीमा से लगते जिले बालाघाट  में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया गया है. कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा. जिला मजिस्ट्रेट ने कोरोना से बचाव को लेकर धारा 144 भी लागू की है. DM ने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करने और मास्क पहनने के लिए कहा है. आदेश में ऐसा न करने पर कार्रवाई की बात कही गई है. सार्वजनिक कार्यक्रम आदि के लिए प्रशासन से मंजूरी लेना अनिवार्य होगा.