English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-09-28 072027

देश के विभिन्न राज्यों से मॉनसून अब धीरे-धीरे विदा हो रहा है लेकिन विदाई से पहले कई राज्यों में झमाझम बारिश देखने को मिल रही है।

 

मौसम विभाग (IMD) ने बताया है कि उत्तर-पश्चिम और उससे सटे पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी पर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बना हुआ है, जिसका कई इलाकों पर असर है। हालांकि, राजधानी दिल्ली में आज (बुधवार) को बारिश का कोई पूर्वानुमान नहीं है।

मौसम विभाग की मानें तो दिल्ली में आज, 28 सितंबर को न्यूनतम तापमान 23 डिग्री और अधिकतम तापमान 35 डिग्री दर्ज किया जा सकता है। वहीं, देश की राजधानी दिल्ली में आज बादल छाए रहेंगे। मौसम विभाग (IMD) की मानें तो दिल्ली में अगले कुछ दिनों तक बादलों का डेरा रहेगा।

Also read:  कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि केन्द्र सरकार किसानों के प्रति निष्ठुर, केन्द्र ने लगभग दो करोड़ किसानों को नोटिस भेजा

उत्तर प्रदेश में कैसा रहेगा मौसम?

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज न्यूनतम तापमान 24 डिग्री और अधिकतम तापमान 34 डिग्री दर्ज किया जा सकता है। लखनऊ में भी आज काले बादल छाए रहेंगे। इसके चलते लोगों को धूप से राहत रहेगी। गाजियाबाद में आज न्यूनतम तापमान 24 डिग्री और अधिकतम तापमान 32 डिग्री रहेगा। गाजियाबाद में आज आसमान साफ रहेगा।

Also read:  सीएम चन्नी बोले- पंजाब के लिए कोई भी त्याग करने के लिए तैयार

जानिए अपने शहर के मौसम का हाल

शहर न्यूनतम तापमान अधिकतम तापमान
दिल्ली 23.0 35.0
श्रीनगर 12.0 26.0
अहमदाबाद 25.0 30.0
भोपाल 22.0 32.0
चंडीगढ़ 23.0 33.0
देहरादून 22.0 33.0
जयपुर 24.0 34.0
शिमला 16.0 25.0
मुंबई 26.0 31.0
लखनऊ 24.0 34.0
गाजियाबाद 24.0 32.0
जम्मू 22.0 32.0
लेह 5.0 19.0
पटना 26.0 32.0

5 राज्यों में होगी बारिश

IMD के अनुसार, 28 से 30 सितंबर के दौरान तटीय आंध्र प्रदेश, यनम और तेलंगाना में और 28 सितंबर, 2022 को तमिलनाडु, पुडुचेरी में गरज के साथ भारी बारिश होने की संभावना है। ओडिशा में 28 व 29 सितंबर को मध्यम से तेज बारिश होने के आसार हैं। इसके अलावा अंडमान व निकोबार में 29 व 30 सितंबर, 2022 को गरज के साथ मध्यम और तेज बारिश होगी।

Also read:  आजाद भारत में पहली बार किसी महिला को फांसी दी जाएगी,, इश्‍क के जुनून में परिवार के 7 सदस्‍यों की ली थी जान

दिल्ली का मौसम?

मौसम विभाग की मानें तो ओडिशा में 1 अक्टूबर के से बारिश की गतिविधियां बढ़ जाएंगी। मौसम विभाग ने कहा कि बंगाल की खाड़ी और पड़ोस के क्षेत्र में साइक्लोनिक सर्कुलेशन के कारण एक अक्टूबर से बारिश की गतिविधियों में वृद्धि होगी।