English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-23 083113

यूक्रेन में करीब 20 हजार से ज्यादा भारतीय नागरिक रहते हैं। इनमें ज्यादातर छात्र हैं। मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि भारतीय नागरिकों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। 

 

रूस द्वारा यूक्रेन पर हमले की आशंका के बीच एयर इंडिया के बोइंग 787 विमान से करीब 240 भारतीय छात्र देर रात भारत पहुंचे। उड़ान AI 1946 ने यूक्रेन की राजधानी कीव के बॉरिस्पिल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से शाम लगभग 6 बजे (IST) उड़ान भरी और मंगलवार को लगभग 11.40 बजे दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरी। दिल्ली उतरने के बाद सभी छात्र खुश दिखे और मीडिया के सामने अपनी खुशी भी जताई। छात्रों ने कहा कि अपने वतन लौटकर काफी अच्छा लग रहा है। समाचार एजेंसी एएनआई ने छात्रों से बातचीत का वीडियो भी जारी किया है।

 

Also read:  भारत में चीनी कंपनियों के निवेश को फिलहाल कोई मंजूरी नहीं,सरकार

यूक्रेन की स्थिति पर क्या कहा छात्रों ने

भारत लौटने वाले कई भारतीय यूक्रेन में चिकित्सा शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्र हैं। छात्रों ने जमीनी हालात का जिक्र करते हुए कहा कि वर्तमान में स्थिति तो शांतिपूर्ण है लेकिन काफी लोगों में भविष्य को लेकर काफी दहशत है। छात्रों ने कहा कि हमने दूतावास की सलाह का पालन किया है जिसमें छात्रों को जल्द से जल्द देश छोड़ने के लिए कहा गया है। छात्रों ने कहा कि हमें अपने वतन लौटकर काफी अच्छा लग रहा है।